मण्डलायुक्त ने कावंड़यात्रा की तैयारियों के अधिकारियों को दिये दिशा-निर्देश

KKK ब्यूरो रिपोर्ट
     प्रयागराज
विकास कुमार पटेल

कावंड यात्रा के दृष्टिगत श्रद्धालुओं व कावंड़ियों को सुविधाये, सुरक्षा व सहायता का समुचित प्रबंध हो-मण्डलायुक्त
कावंड़ यात्रियों, श्रद्धालुओं व जनसमूह के नियंत्रण व डायवर्जन के लिए मूवमेंट प्लान तैयार किया जाय -कमिश्नर
डाॅयल 100 व एम्बुलेंस की तैनाती समुचित रूप से करने के अधिकारियों को दिये निर्देश
कावंड यात्रियों के मार्गों पर पड़ने वाले जिला अस्पतालों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर जरूरी दवाईयों के साथ स्टाफ की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय

संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर वहां के लोगो से समन्वय स्थापित कर धार्मिंक सौहार्द बनाये रखने हेतुे लोगो को प्रेरित किया जाय-मण्डलायुक्त प्रयागराज मण्डलायुक्त, प्रयागराज डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने कावंडयात्रा के सम्बन्ध में विस्तृत निर्देश दिये। उन्होंने जिलाधिकारी व एसएसपी सहित अन्य विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कावंड़यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं, कावंड़ियों व दर्शनार्थियों के जनसमूह आदि को हर तरह से मदद करने हेतु व उन्हें समुचित सुविधाएं व सुरक्षा उपलब्ध कराने हेतु सतत् प्रयत्नशील रहें। इस हेतु पुलिस प्रशासन व अन्य विभागीय अधिकारी पूरे मनोभाव के साथ मदद के लिए हर समय तैयार रहें।
    कावंड़ियों व श्रद्धालुओं के चिन्हित मार्गों पर पीने के पानी की समुचित व्यवस्था की जाय। चिन्हित स्थानों, घाटो व मार्गों पर उनके मार्गदर्शन हेतु साईन बोर्ड लगवाये जाय। मजिस्ट्रेट व पुलिस अधिकारियों की गाड़ियों पर जनसमूह के प्रबंधन व टैªफिक डायवर्जन आदि के लिए लाउड स्पीकर का प्रबंध किया जाय। अधिकारियों द्वारा कार्यक्रम स्थलों, मंदिरों आदि के प्रबंधक समितियों के साथ समन्वय कर सुरक्षा व सफाई के लिए प्रेरित किया जाय। साथ ही उन्हें प्लास्टिक के ग्लास, थाली व अन्य किसी तरह के प्लास्टिक का उपयोग न करने हेतु प्रेरित किया जाय। मुख्य कार्यक्रमों व जनसमूहों वाले स्थानों पर पहले से ही जनसमूहों के नियंत्रण व डायवर्जन के लिए मूवमेंट प्लान तैयार कर लिया जाय। रेलवे तथा बस स्टेशनों पर जनसमूह के नियंत्रण हेतु भी पहले से ही मूवमेंट प्लान तैयार कर लिया जाय। सभी मार्गों पर विशेष रूप से टैªफिक डायवर्जन वाले स्थानों पर बफर के रूप में पार्किंग की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय, जिससे मार्गों पर जाम की स्थिति न उत्पन्न हो। कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए कावंड मार्गों पर पड़ने वाले संवेदनशील स्थानों यथा मिश्रित धार्मिंक स्थानों को चिन्हित कर वहां के लोगो से समन्वय स्थापित कर धार्मिंक सौहार्द बनाये रखने हेतु उन्हे प्रेरित किया जाय। डाॅयल 100 की गाड़ियों व एम्बुलेंस की तैनाती समुचित रूप से की जाय, जिससे आवश्यकता के अनुरूप तत्काल मदद उपलब्ध करायी जा सके। रोडवेज व प्राइवेट गाड़ियों के संचालकों की कार्यशाला कर उन्हें गतिसीमा आदि के सम्बन्ध में यथोचित निर्देश जारी किये जाय।
    इसी तरह खाद्यय सुरक्षा विभाग द्वारा मुख्य कार्यक्रमों स्थलों पर उपलब्ध खाद्यय पदार्थों आदि की सर्तकतापूर्ण जांच सुनिश्चित की जाय। विद्युत विभाग व विद्युत सुरक्षा के अधिकारियों को निर्देश दिया कि कावंडयात्रा के मार्गों पर ढीले और जर्जर तारों का समूचित प्रबंध किया जाय और अन्य व्यवस्थाओं का भी समूचित सुधार करते हुए यात्रियों की सुविधा में तत्पर रहे। नगर निगम, नगर निकाय व पंचायतीराज विभागों से समन्वय कर रास्तो को दुरूस्त करने, साफ-सफाई रखने और डायवर्जन आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। जिला अस्पतालों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर एण्टी रैबीज, एंटी स्नैक आदि वैक्सीन व फूड प्वाइजिंग, डिहाइड्रेशन आदि की दवाईयों के साथ स्टाफ की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाय। इसी के साथ मजिस्ट्रेट उक्त व्यवस्था का निरीक्षण करते रहे। विशेषतः 12 अगस्त को बकरीद व सावन का आखिरी सोमवार एक साथ होने की वजह से विशेष सर्तकता बरती जाय। इस हेतु चिन्हित स्थानों पर सिविल डिफेंस व स्वयंसेवकों से समन्वय स्थापित कर अतिरिक्त स्टाफ की तैनाती की जाय। पुलिस का व्यवहार विनम्र होना चाहिए। टैªफिक डायवर्जन की पबलीसिटी, कुम्भ में प्राप्त जल सुरक्षा उपकरणों का समुचित उपयोग करते हुए यात्रियों की यथासम्भव मदद की जाय। शास्त्रीपुल से हण्डिया के मार्ग पर निर्माण कार्य के चलते टैªफिक को डायर्वट करते हुए यात्रियों की सुविधा के अनुरूप लेन बनाकर यातायात की सुचारू व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। शास्त्री ब्रिज पर कावंड़ियों व जनसमूह के नियंत्रण, डायवर्जन व उनके आवागमन हेतु विस्तृत प्लान तैयार किया जाये, जिससे वहां पर जाम की स्थिति न उत्पन्न हो। दशाश्वमेध घाट पर साफ-सफाई, कावंड़ियों की सुविधा व विशेषरूप से उसे फिसलन मुक्त बनाने हेतु जेट पम्पिंग मशीन आदि की मदद से व्यवस्था को सुचारू रूप से सुनिश्चित किया जाय तथा अन्य सभी घाटों पर भी उपरोक्तानुसार व्यवस्था सुनिश्चित की जाय।
    इस सम्बन्ध में पूर्व में भी दिनांक 11 जुलाई को पुलिस लाईन में आयोजित बैठक में गहन चर्चा की गयी थी, तदुपरान्त दिनांक 13 जुलाई को भी उक्त के सम्बन्ध में जरूरी निर्देश जारी किये जा चुके है।
महिला जनसुनवाई समीक्षा बैठक 17 जुलाई को
उ0प्र0 राज्य महिला आयोग द्वारा प्रदेश में महिला उत्पीड़न की रोकथाम एवं पीड़ित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाए जाने के लिए महिला जनसुनवाई समीक्षा बैठक की जा रही है। इसी क्रम में प्रयागराज के सर्किट हाउस में दिनांक 17 जुलाई 2019 को पूर्वान्ह 11ः00 बजे उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य मा0 श्रीमती अनिता सचान द्वारा महिलाओं की समस्याओं को सुनकर उसका समाधान करेंगी।
मार्जिन मनी ऋण, टर्मलोन, ब्याजरहित ऋण शैक्षिक ऋण योजना के अन्तर्गत ऋण की अदायगी न करने पर समस्त बकायेंदारों के विरूद्ध निगम मुख्यालय से वसूली प्रमाण पत्र किया जायेगा निर्गत
उ0प्र0 अल्पसंख्यक वित्तीय एवं विकास निगम लि0 लखनऊ द्वारा संचालित मार्जिन मनी ऋण, टर्मलोन, ब्याजरहित ऋण शैक्षिक ऋण योजना के अन्तर्गत लाभान्वित किये गये लाभार्थिंयों बकायेदारों को सूचित किया जाता है निगम द्वारा पूर्व प्रदत्त ऋणों की वसूली हेतु अभियान चलाया जा रहा है। इस सम्बन्ध में बकायेदारों को निगम मुख्यालय स्तर से पंजीकृत पत्रों के माध्यम से नोटिस भेजी जा रही है, जिसकी प्रतिलिपि उनके जमानतदारों को पृष्ठांकित की गयी है। ऐसे समस्त लाभार्थिंयों को सचेत किया जाता है कि जिन्होंने अभी तक प्राप्त ऋणों के सापेक्ष ऋण अदायगी नहीं की है, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, विकास भवन कार्यालय प्रयागराज से सम्पर्क स्थापित कर ऋण अदायगी कर रसीदें अवश्य प्राप्त कर लें। मुख्यालय स्तर पर समीक्षा के दौरान यह पाया गया कि जनपद के अधिकांश बकायेदारों द्वारा ऋणों की अदायगी नहीं की जा रही है, यह स्थिति अत्यन्त चिन्तनीय है। इस नोटिस के माध्यम से सूचित किया जाता है, यदि 31 जुलाई, 2019 के अन्दर यदि आपके द्वारा लिये गये ऋण की अदायगी नहीं की गयी तो समस्त बकायेंदारों के विरूद्ध निगम मुख्यालय से वसूली प्रमाण पत्र निर्गत कर दिया जायेगा। तदोपरान्त जिलाधिकारी द्वारा बकायेंदारों से बकायें की धनराशि भू-राजस्व की भांति वसूल की जायेगी, जिस पर बकायेदारों को 10 प्रतिशत अतिरिक्त शुल्क देना होगा, जिसकी जिम्मेदारी उनकी स्वयं की होगी।
यह जानकारी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी जिला प्रबन्धक, उ0प्र0 अल्पसंख्यक वित्तीय एवं विकास निगम लि0, प्रयागराज शिव प्रकाश तिवारी ने दी है। जिला कृषि नियोजन इकाई से अनुमोदन हेतु बैठक 17 जुलाई  उप कृषि निदेशक, प्रयागराज विनोद कुमार ने बताया है कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजनान्तर्गत वर्ष 2017-2022 तक के लिये जनपद प्रयागराज की जिला कृषि योजना की जिला कृषि नियोजन इकाई से अनुमोदन हेतु बैठक दिनांक 17 जुलाई 2019 को अपरान्ह 03ः00 संगम सभागार, कलेक्टर में आहूत की गयी है। बैठक में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अन्तर्गत संचालित परियोजनाओं की समीक्षा की जायेंगी। पंचवर्षीय योजना में अनुमोदन पर विचार किया जायेगा। राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद द्वारा जिला कृषि योजना का प्रस्तुतीकरण किया जायेगा। अन्य विषय अध्यक्ष के अनुमति से चर्चा में लाये जायेंगे।
Share To:

Post A Comment: