कुछ  #कांग्रेसजनों ने फूंका पुतला भी, जमकर की #नारेबाज़ी

आज कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रभारी उत्तर प्रदेश प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेसी सड़कों पर उतर आए। हालांकि उत्तर प्रदेश के डीजीपी ने गिरफ़्तारी से इनकार किया। ज़िला कांग्रेस कमेटी हरदोई ने निवर्तमान जिलाध्यक्ष डॉक्टर राजीव सिंह लोध के नेतृत्व में गांधी प्रतिमा तिकोनिया पार्क पुलिस लाइन के सामने दोपहर 2:00 बजे से विरोध प्रदर्शन किया। योगी और योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए निवर्तमान जिलाध्यक्ष ने कहा कि योगी सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरीके से ध्वस्त हो चुकी है जिसका ताजा उदाहरण सोनभद्र का नरसंहार कांड है। कहा, उत्तर प्रदेश में पुलिस आम आदमी के अधिकारों का हनन योगी के निर्देश पर कर रही है व लोकतंत्र का गला घोटने का काम हो रहा है। आम आदमी की आवाज को पुलिस से दबाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज की घटना बेहद निंदनीय है प्रियंका गांधी को पीड़ित परिवारों से मिलने ना देना सरकार की नाकामी को दर्शाता है। गिरफ्तारी के विरोध में जिला अध्यक्ष के नेतृत्व में योगी का पुतला जलाने का प्रयास किया गया जिसमें पुलिस से पुतले को छीनने का जोरदार प्रयास हुआ और भारी पुलिस बल की मौजूदगी में पुलिस द्वारा अपने कब्जे में ले लिया गया।

एक अन्य प्रदर्शन में कांग्रेस के निवर्तमान कार्यवाहक जिलाध्यक्ष आशीष सिंह ने उत्तर प्रदेश सरकार का पुतला फूंका है। उन्होंने कहा कि सोनभद्र में पीड़ित परिवारजनों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी करके सरकार ने जन विरोधी काम किया है। सरकार ने अपनी विफलता छुपाने के लिए प्रियंका गांधी की गिरफतारी की है। इस प्रदर्शन में जमील अहमद अंसारी, दीपेंद्र सिंह, भुवनेश ठाकुर, अशेष सिंह, अर्जुन सिंह, विपिन श्रीवास्तव, देवेंद्र शर्मा, सिकन्दर गाजी, फरीद अहमद, शमशाद, नौशाद आलम, राजेन्द्र, सूफियान, शमीम, महताब अहमद, अनिल वर्मा, किशनपाल, राजवीर सिंह, शिव कुमार आदि साथी शामिल रहे।

उक्त कार्यक्रम में प्रमुख रूप से गोविंद सिंह सोमवंशी, सुनीता मित्रा, राजू श्रीवास्तव, शिव कुमार गुप्ता, आशुतोष गुप्ता, पुनीत सिंह, अजीत सिंह चंदेल, उमेश सिंह, सुबोध कुमार, अमीर अहमद, पवन गुप्ता, सतीश गुप्ता, रियाज अहमद एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।
Share To:

Post A Comment: