जर्जर विद्यालयो में बच्चों का प्रवेश एवं पठन-पाठन पूर्णयता प्रतिबन्धित रहेगा: डीएम पुलकित खरे

हरदोई 

विद्यालय में हादसा होेने पर प्रधानाध्यापक के विरूद्व निलम्बन व बीईओ के विरूद्व विभागीय एवं विधिक कार्यवाही की जायेगी डी एम
हरदोई - जिलाधिकारी पुलकित खरे ने जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से कहा है कि वर्षा ऋतु में पुराने एवं जर्जर भवनों के गिरने की प्रबल सम्भावना रहती है इसलिए सरकारी एवं मान्यता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए आवश्यक है कि ऐसे सभी विद्यालय कक्षों का स्वयं एवं खण्ड शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से सर्वे कराकर उन विद्यालय के कक्षों को चिन्हित कर लिया जाये जो जर्जर स्थिति तथा पठन-पाठन कार्य हेतु उपयुक्त न हों।

उन्होने कहा है, कि आपका एवं समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों का यह व्यक्तिगत उत्तरदायित्व होगा कि पुराने व जर्जर भवनों में कक्षायें संचालित न की जाये और यदि किसी विद्यालय में एक-दो कक्ष जर्जर हालत में है तो उनमें संचालित होने वाली कक्षाओं को विद्यालय परिसर के अन्य कक्षों में शिफ्ट कर दिया जाये और यदि पूरा भवन जर्जर है,तथा कोई भी कक्ष सुरक्षित नही है तो मुख्य विकास अधिकारी को संज्ञाान कराते हुए ग्राम में स्थित किसी अन्य सुरक्षित सरकारी भवन या पंचायत भवन, आंगनबाड़ी केन्द्र आदि में कक्षायें संचालित की जाये और किसी भी दशा में जर्जर विद्यालय भवनों में बच्चों का प्रवेश एवं पठन-पाठन पूर्णयता प्रतिबन्धित रहेगा।

श्री खरे ने कहा है, कि इस कार्य को प्राथमिकता दी जाये और यदि इससे विपरीत स्थिति उनके संज्ञान में किसी के माध्यम से आती है तो सम्बन्धित प्रधानाध्यापक के विरूद्व निलम्बन तथा खण्ड शिक्षा अधिकारी के विरूद्व विभागीय कार्यवाही एवं विधिक कार्यवाही, जनहानि की संगत धाराओं में की जायेगी। उन्होने कहा है कि प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों की स्थित के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी तथा हाईस्कूल व इण्टर मीडिएट व डिग्री कालेजों की स्थिति के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक उत्तरदायी होगें।
Share To:

Post A Comment: