Sawan 2019 : शिव और रुद्राक्ष का है एक खास संबंध, सावन में इसे धारण करने से होते हैं करोड़ों लाभ, जानिए कैसे

राजगढ- सावन में शंकर भगवान की विधि विधान से पूजा ( Prey ) की जाती है। भगवान शिव को रुद्राक्ष अतिप्रिय हैं। ऐसा माना जाता है कि रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के आंसू की बूंदों ( Lord Shiva ) से हुई है। सावन मास ( sawan month ) में रुद्राक्ष धारण करना बहुत ही लाभकारी होता है। सावन में एक से लेकर बारह मुखी रुद्राक्ष धारण करने का अपना अलग महत्व है। रतलाम के प्रसिद्द ज्योतिष अभिषेक जोशी जी से जानते हैं कि सावन में रुद्राक्ष धारण करना क्यों शुभ माना जाता है।

करोड़ों पुण्य की होती है प्राप्ति

धार्मिक मान्यता के अनुसार, शिव साक्षात रुद्राक्ष में वास करते हैं। इसलिए शिव और रुद्राक्ष का संबंध अटूट है। तभी धार्मिक दृष्टिकोण से रुद्राक्ष बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। रुद्राक्ष ( Rudraksha ) की पूजा और जप करने से करोड़ों पुण्यों की प्राप्ति होती है। चूंकि सावन का महीना चल रहा है, जो शिव आराधना का पावन समय है इसलिए रुद्राक्ष को सावन में धारण करना शुभ माना गया है।...
Share To:

Post A Comment: