जिलाधिकारी की अध्यक्षता में उद्योग बन्धु की बैठक सम्पन्न

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
       प्रयागराज
विकास कुमार पटेल

उद्योग से सम्बन्धित प्रकरण को गम्भीरता  से ले अधिकारी-जिलाधिकारी, प्रयागराज यूपीएसआईडीसी व सिडिकेंट बैक को चेतावनी के साथ जिलाधिकारी लगायी कड़ी फटकार

30 अगस्त, 2019 प्रयागराज

जिलाधिकारी, प्रयागराज 

 भानुचंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में जिला उद्योग बन्धु समिति की बैठक संगम सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में उपायुक्त उद्योग ए0के0 चैरसिया, ए0के0 गौतम-डिप्टी कमिश्नर वाणिज्य कर के साथ सम्बन्धित अधिकारीगण एवं उद्योग बन्धु के पदाधिकारीगण मौजूद थे। जिलाधिकारी ने उद्योग बन्धुओं के प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुए सम्बन्धित अधिकारियों से आवेदनकर्ता के मामलों के निस्तारण की जानकारी ली और इसकी प्रगति को भी जाना। जिलाधिकारी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि एक सप्ताह में उचित तरीके से उद्योग बन्धुओं के मामलों का निस्तारण सुनिश्चित करें। जिला उद्योग बन्धु द्वारा पालूशन कण्ट्रोल बोर्ड के अधिकारियों कि शिकायत में बताया कि यूनाइटेड मेडिकल कालेज के अनुमति के लिए भेजा गया है। अभी तक एनओसी प्राप्त नहीं हुई है, जिसपर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए बताया कि यदि कोई इन्वेस्टर वापस जाता है, तो आपकी जिम्मेदारी तय की जायेगी। उन्होंने इसके लिए पाॅलूशन कण्ट्रोल बोर्ड के अधिकारियों को फटकार लगायी तथा जो भी विलम्ब हुआ है, इसके लिए जांच के निर्देश दिये। उन्होंने सभी अधिकारियों को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया कि जो भी आवेदन आते है, उसमें जो भी त्रुटियां रहती है, उसको एक बार में ही लिख कर देंगे, बार-बार चक्कर न लगाये उद्योग बन्धु की लोग। उद्योग बन्धुओं द्वारा शिकायत की गयी कि नक्शा के लिए पहले मैनुअल द्वारा फीस जमा की जाती थी, उसके बाद आनलाइन कर दिया गया। मैंने मैनुअल द्वारा फीस जमा कर दी है, अब पुनः आनलाइन फीस जमा करने के लिए यूपीएसआईडीसी कह रही है, जिस पर जिलाधिकारी ने यूपीएसआईडीसी के अधिकारियों को जमकर फटकार लगायी तथा चेतावनी दी कि ये प्रकरण पुनः पुनरावृत्ति नहीं होने चाहिए। एक सप्ताह में निस्तारण कर आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिये है। मे0 सूर्यांश एग्रो नैनी प्रयागराज के प्रतिनिधि द्वारा शिकायत की गयी कि सिडिकेंट बैंक द्वारा लोन स्वीकृत हुआ था, जो पहले ब्याज की दर 9.5 प्रतिशत थी, उसके बाद छूट की सीमा समाप्त कर ब्याज दर 10.75प्रतिशत चार्ज किया जा रहा है, जिसकी जिलाधिकारी द्वारा सिडिकेंट बैंक के प्रतिनिधि से जानकारी ली गयी, सही जानकारी न देने पर कड़ी नाराजगी जताते हुए सिडिकेंट बैंक के २ााखा प्रबन्धक के खिलाफ पत्र लिखने के निर्देश दिये तथा सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि उद्योग बन्धु की समस्याओं को गम्भीरता से ले तथा उसका अनुपालन सुनिश्चित करें, किसी भी प्रकार की लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। निर्वाचक नामावलियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-मतदाता सत्यापन कार्यक्रम 01 सितम्बर से होगा प्रारम्भ सर्व साधारण को सूचित किया जाता है कि भारत निर्वाचन आयोग, नई दिल्ली एवं मुख्य निर्वाचन अधिकारी उ0प्र0, लखनऊ के निर्देशानुसार अर्हता तिथि 01.01.़2020 के आधार पर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-मतदाता सत्यापन कार्यक्रम ;म्समबजवते टमतपपिबंजपवद च्तवहतंउउम ;म्टच्द्ध दिनांक 01.09.2019 को धूमधाम से प्रत्येक स्तर पर लांच किया जायेगा। आयोग के निर्देशानुसार दिनांक 01.09.2019 से 30.09.2019 तक प्रत्येक बी0एल0ओ0 द्वारा घर-घर जाकर प्रत्येक मतदाता एंव उसे परिवार का सत्यापन किया जाना है। प्रत्यके निर्वाचक स्वयं व अपने परिवार के निर्वाचक विवरण को आयोग की वेबसाईट छटैच्ण्प्छ पर जाकर म्टच् के अन्तर्गत आनलाइन सत्यापन का कार्य कर सकते है। आयोग द्वारा इस कार्य में सहयोग के लिए कामन सर्विस सेन्टर (सी0एस0सी0) का उपयोग किये जाने का निर्णय लिया है। आप अपने परिवार एवं स्वयं का निर्वाचन विवरण जान सकते है। नाम शामिल करने हेतु फार्म-6 आनलाइन अपलोड कर सकते हैं। यदि आपके परिवार में कोई सदस्य अन्यत्र चला गया है अथवा मृतक हो गया है तो फार्म-7 भी आनलाइन भर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप अपनी प्रविष्टियों में संशोधन के लिए फार्म-8 भी भर सकते हैं। एकही विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के अन्दर यदि आपका पते में परिवर्तन हुआ है तो फार्म-8ए भर सकते हैं।



Share To:

Post A Comment: