चित्रकूट- जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय की अध्यक्षता में गौशालो स्थापना के संबंध में कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक संपन्न हुई। जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों एवं खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी गोवंश आश्रय केंद्र जहां पर गोवंश संरक्षित किए गए हैं उन सभी केंद्रों के संचालन हेतु स्थानीय लोगों की समिति बनाकर गोवंश के भरण-पोषण की जिम्मेदारी दी जाए। प्रत्येक केंद्र पर संरक्षित गोवंश के विवरण हेतु एक पंजिका बनाई जाए जिसमें प्रतिदिन तथा क्रमिक संरक्षित पशुओं की संख्या का निर्माण विवरण प्रजाति आयु, व र्लिंग आदि रखा जाए तथा इससे संबंधित सुसंगत स्तर पर उपलब्ध विभिन्न विभागों पंचायती राज विभाग, राजस्व विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, पशुपालन विभाग, पुलिस विभाग, आदि जैसा विहित किया जाए के कर्मियों द्वारा प्रतिदिन भौतिक सत्यापन कराया जाय यथा संभव प्रतिदिन भौतिक सत्यापन पशुओं की संख्या विषयक साथ फोटो, वीडियो आदि भी रखा जाए। सत्यापित गोवंश की संख्या के आधार पर ही भरण पोषण हेतु अनुदान की मांग आश्रय स्थल संचालन समिति द्वारा की जाएगी जिलाधिकारी ने पहाड़ी के प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में जानवर पहुंचने पर खंड विकास अधिकारी पहाड़ी को फटकार लगाते हुए कहा कि यदि व्यवस्था में सुधार नहीं किया गया तो आपके घरों में जानवरों को रखा जाएगा। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि एजेंडा बनाकर प्रस्तुत करें सभी कारणों के बिंदुओं की प्रतिदिन समीक्षा करें किसी भी कार्य में लापरवाही न किया जाए। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि कितने गांव में काम हुआ है और कितना काम शुरू है प्रतिदिन मानिटरिंग करें। उन्होंने रामनगर, पहाड़ी, कर्वी, राजापुर में सबसे ज्यादा परेशानी है नाराजगी व्यक्त करते हुए खंड विकास अधिकारियों से कहा कि अपने कार्यों में सुधार लाएं नहीं तो सख्त कार्यवाई की जाएगी उन्होंने संबंधित अधिकारियों से कहा कि हर पशुवाड़ा की सूचना संबंधित थाने में भेजें और प्रत्येक पशुवाड़ा के मैदान की लेवलिंग बराबर होनी चाहिए, क्षमता के अनुरूप जानवर रखे जाएं, चारे पानी की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए भूख प्यास से कोई जानवर नहीं मरना चाहिए और इलाज की उचित व्यवस्था रहना चाहिए छीबों रामनगर गौशाला में क्षमता के अनुरूप कम जानवर पाए जाने पर कहा कि उसमें और जानवर रखे जाएं इधर-उधर जानवर नहीं घूमना चाहिए जहां पानी की व्यवस्था नहीं है वहां जल निगम जाकर देखें और पानी की व्यवस्था कराएं उन्होंने कहा कि स्थाई गौशाला और स्थाई गौशालाओं की तहसील व विकास खंड वाइज और कितने जानवर हैं की पूरी लिस्ट बनाकर सभी खंड विकास अधिकारी तत्काल उपलब्ध कराएंइस अवसर पर पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार झा, मुख्य विकास अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार, अपर जिलाधिकारी जी पी सिंह, प्रभागीय वन अधिकारी कैलाश प्रकाश, उपजिलाधिकारी कर्वी इंदु प्रकाश, मऊ  रमेश कुमार यादव, मानिकपुर  संगम लाल, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सुधीर सिंह, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी सहित संबंधित अधिकारी व खंड विकास अधिकारी मौजूद रहे।

मंडल प्रभारी अश्विनी कुमार श्रीवास्तव
कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार पत्रिका एवं दैनिक वेब न्यूज चैनल
जनपद चित्रकूट


Share To:

Post A Comment: