शहर कोतवाली लाइन पुरवा निवासी अजय (23) पुत्र महावीर जिला अस्पताल के पास पान की दुकान चलाता था उसके पिता ने बताया रचना पुत्री राजू कश्यप निवासी धर्मशाला रोड़ से नवम्बर 2018 में कोर्ट मैरिज की थी शादी के कुछ दिनों के बाद रचना अपने मायके चली गई अजय कई बार उसको विदा कराने के लिए गया लेकिन उसे हर बार अकेले ही वापस लौटना पड़ा और साथ ही उसे अजय पर दहेज प्रथा का मुकदमा भी दर्ज करा दिया।

सोमवार को रचना ने अजय को घर पर बुलाया था जहां उसकी तबीयत बिगड़ने लगी तभी रचना अपने भाई के साथ अजय को लेकर अस्पताल पहुँची। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने जहर खाने के चलते हालत खराब होते देख लखनऊ ले जाने की सलाह दी।

रचना अपने भाई अमित के साथ अजय को लखनऊ ले गये जहां सोमवार देर रात में उसकी मौत हो गई।
परिजनों का आरोप है कि मंगलवार सुबह शव ससुराल पहुँचने पर घटना की जानकारी मिली, अजय के परिजनों ने उसकी पत्नी रचना, साले, सास और ससुर पर जहर खिलाकर हत्या का आरोप लगाया है आज सुबह मृतक के परिजनों ने पुलिस लाइन के सामने शव को रखकर सड़क जाम कर दी। शहर कोतवाल और सीओ सिटी के आश्वासन पर जाम हटाया, रचना और उसके भाई, पिता, और माता के खिलाफ शहर कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत हो गया है।
Share To:

Post A Comment: