कांग्रेस के लिए प्रचार करने वाले देवमुरारी बापू ने दी सीएम आवास के सामने आत्मदाह करने की धमकी

Kkkन्यूज रिपोर्ट भोपाल :- मध्य प्रदेश में 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए प्रचार करने वाले कथावाचक आचार्य देव मुरारी बाबू ने कमलनाथ सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। आचार्य देव मुरारी बाबू ने सोमवार को भोपाल में सीएम आवास के बाहर आत्मदाह करने की धमकी दी। वृंदावन के संत आचार्य देव मुरारी बापू अपनी अन्य मांगों के अलावा मध्यप्रदेश गौ संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति ना किए जाने से नाराज बताए जा रहे हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आचार्य देव मुरारी बापू ने कहा कि मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनावों में उन्होंने कांग्रेस के पक्ष में प्रचार किया, उस वक्त उन्हें आश्वासन दिया गया था कि अगर मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तो उनको सम्मान दिया जाएगा। लेकिन चुनाव जीतने के बाद कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार उनकी बात नहीं सुन रही है। उन्होंने कहा, 'मैंने सीएम कमलनाथ से मांग की थी कि 15 अगस्त तक मध्य प्रदेश गौ संवर्धन बोर्ड में मेरी नियुक्ति की जाए, ताकि मैं गौ सेवा कर सकूं। लेकिन मेरी ये मांग अनसुनी कर दी गई।' उन्होंने कहा, 'इससे मैं आहत हूं और सोमवार 12 बजे दोपहर मैं मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह कर लूंगा, क्योंकि इस सरकार द्वारा संतों की मांगें नहीं मानने से मेरा मान-सम्मान गिरा है।'देव मुरारी बापू का कहना है कि कांग्रेस सरकार ने स्वामी सुबुद्धनंद को मध्य प्रदेश मठ मंदिर समिति का अध्यक्ष बना दिया और कंप्यूटर बाबा को नदी व्यास का अध्यक्ष बना दिया, लेकिन गौ संवर्धन बोर्ड का अध्यक्ष बनाने की उनकी मांग को अब तक अनसुना किया जा रहा है। देव मुरारी बाबू ने बीजेपी से अपनी जान को खतरा बताते हुए कमलनाथ सरकार से वाई कैटेगरी की सुरक्षा प्रदान करने की मांग भी की है। आचार्य का कहना है कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह के कहने पर उन्होंने बीते चुनाव में कांग्रेस के लिए प्रचार किया था, लेकिन अब वे उनकी बात नहीं सुन रहे हैं।

Share To:

Post A Comment: