स्वर्गीय ताराबाई जैन का मरणोपरांत किया गया नेत्रदान

 KKK 24X7.NEWS नागौद:

नागौद के ख्याति प्राप्त कवि स्व. धन्य कुमार जैन  जिनके नाम से नागौद की धरा में हमेशा राष्ट्रीय स्तर का कवि सम्मेलन होता रहा है की धर्म पत्नी ताराबाई जैन जिनका देहांत बिगत 26 अगस्त को हुआ था। उनके परिजनों ने उनकी अंतिम इच्छानुसार उनकी आँखें श्री सदगुरू सेवा ट्रस्ट चित्रकूट के नेत्र बैंक को दान कर दीं हैं। नेत्रदान ने जँहा ताराबाई जैन को अमर कर दिया वहीं इस दुनिया से अलविदा होने के बावजूद भी उनकी आँखें किसी मिलने वाले के रूप में इस दुनिया का दीदार कर सकेंगी। इस पावन पुनीत कार्य से समाज को एक नई दिशा मिलेगी और लोग इस कार्य के लिए आगे आएँगे, इस पुनीत कार्य को कराने में दृष्टिदूत उनके पुत्र सुबोध जैन एवं  सिंघई परिवार सिंघई क्लॉथ स्टोर गाँधी चौक , मनीष बृजपुरिया, सुकमाल जैन आदि साथ रहे। पत्रकार श्रीपाल जैन,सामाजिक कार्यकर्ता ओम प्रकाश लोधीराज, अजय सिंह खमरेही, दीनदयाल मिश्रा, भारती शरण पाठक ,कवि योगेश योगी किसान ने इसे मानवता के लिए प्रेरणादायी कहा है।

Share To:

Post A Comment: