थाने से महज 200 मीटर की दूरी पर हुआ कत्ल, पुलिस सोती रही
.
हरदोई। हरपालपुर थानाक्षेत्र में बीते कल अश्वनी उर्फ विकास मिश्रा की हत्या के मामले में स्थानीय पुलिस पर लापरवाही का आरोप है। पुलिस के प्रति जनाक्रोश तेजी से फैल रहा है। हिन्दू महासंगठन द्वारा हरपालपुर थानाध्यक्ष को बर्खास्त करने की मांग की जा रही है। वहीं इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर भी लोगों का आक्रोश देखने को मिल रहा है।
घटना के संबंध में बताया गया कि हरपालपुर निवासी विकास मिश्रा मकान के बाहर अपनी चाय की दुकान पर बैठे हुये थे, तभी एकाएक दुकान पर करीब दर्जन भर लोगों ने उन पर हमला कर दिया गया। हमले में में विकास की मौके पर मौत हो गयी। जबकि उनका बेटा व पत्नी घायल हो गए।

जानकारी के मुताबिक उनका 15 वर्षीय पुत्र घटना देख भाग कर थाने गया, जहां पुलिसकर्मियों ने थोड़ी देर बाद मामला देखने को बोलकर सोते रहे। उधर घटनास्थल पर पड़ोसियों ने कुछ हत्यारो को पकड़ भी लिया, किन्तु महज 200 मीटर की दूरी से पुलिस घटनास्थल पर पहुंचने में 02 घण्टे का समय लग गया।

हिन्दू महासंगठन के अनुराग द्विवेदी अन्नू, विशु अग्निहोत्री, शिवेंद्र शुक्ला, गौरव शुक्ला, शोभित पांडेय, गुंजन त्रिपाठी व प्रशांत बाजपेई का कहना है कि पुलिस हत्यारों से मिली हुई थी। जिसके चलते जानबूझ कर घटना स्थल पर पहुंचने में विलंब किया। आक्रोशित संगठनों ने माँग की है कि इस घटना की किसी बड़ी एजेंसी से जाँच कराई जाए। दोषियों पर सख्त कार्यवाही की जाये, साथ ही मृतक की घायल पत्नी व बेटे का अच्छी तरह इलाज हो व परिवार को उचित मुआवजा दिया जाये।
Share To:

Post A Comment: