जल संचयन एवं संरक्षण के प्रति जन जागरूकता के लिए जिला प्रशासन की ओर से निकाली गयी जलशक्ति यात्रा

KKK न्यूज रिपोर्टर
         नैनी
     सुभाष चंद्र

जल शक्ति यात्रा में उमड़ा जनसैलाब विभिन सामाजिक और शैक्षिक संगठनों सहित दस हजार से अधिक लोग और बच्चे जल शक्ति यात्रा में हुए शामिल

31 अगस्त, 2019 प्रयागराज।

जल संचयन एवं संरक्षण के प्रति जन जागरूकता के लिए जिला प्रशासन की ओर से जलशक्ति यात्रा निकाली गयी, जिसमें महानगर के विभिन सामाजिक और शैक्षिक संगठनों सहित बेसिक और माध्यमिक के दस हजार से अधिक लोग और बच्चे शामिल हुए। जलशक्ति यात्रा को प्रातः साढ़े सात बजे मेडिकल चैराहे से काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर गिरीशचंद्र त्रिपाठी तथा मुख्य विकास अधिकारी अरविंद सिंह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

 भारत सरकार के जलशक्ति मंत्रालय के जलशक्ति अभियान के तहत आयोजित जलशक्ति यात्रा में महानगर के विविध सामाजिक और शैक्षणिक संगठनों के सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए। एनसीसी के एक हजार से अधिक कैडेट्स,स्काउट गाइड, सिविल डिफेंस,एनएसएस तथा स्टेडियम के खिलाड़ी भी यात्रा में शामिल हुए। माध्यमिक और प्राथमिक विद्यालयों के लगभग दस हजार बच्चे पोस्टर और बैनर के माध्यम से पानी बचाने का संदेश देते नजर आए। बूँद बूँद पानी बचाने का प्रयागराज का संकल्प, जल है तो कल है के नारे लगाते हुए राजकीय कन्या इंटर कालेज की बलिकाओं के बैंड की धुन बच्चे और एन सीसी के कैडेट्स कदमताल कर रहे थे। यात्रा में रोटरी क्लब की विभिन्न इकाइयों के पदाधिकारी  केमिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारी सिविल लाइन व्यापार मंडल तथा होटल एसोसिएशन के पदाधिकारी भी सम्मिलित हुए । जल यात्रा के समापन पर काशी हिंदू विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर जीसी त्रिपाठी ने काकी जल संचयन हमारी संस्कृति का एक हिस्सा है। भौतिकवादी जीवनशैली ने  जल संकट पैदा किया है। उन्होंने कहा कि युवाओं को और बच्चों को जल संचयन के प्रति संस्कारित करने की आवश्यकता है  मुख्य विकास अधिकारी  अरविंद सिंह ने  काकी  युवाओं का  जोश देखकर ऐसा लगता है कि जल संकट की लड़ाई को हम सब जीतने में कामयाब होंगे उन्होंने कहा कि जनशक्ति यात्रा में शामिल हजारों बच्चों और नौजवानों  ने आज  पूरे देश को संदेश दिया है जल शक्ति अभियान के नोडल अधिकारी डॉ0 सिंह ने कहा कि महानगर गंभीर जल संकट के मुहाने पर है। वर्ष 2005 से 2019 तक भूगर्भ जल का स्तर पंद्रह मीटर नीचे जा चुका है। प्रत्येक वर्ष 82 सेंटीमीटर जल स्तर नीचे जा रहा है। अगर बच्चे नौजवान इस समस्या से लड़ने के लिए आगे नहीं आये तो भविष्य अंधकारमय हो जाएगा। उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्गों को जल संरक्षण के लिए जागरूक होना होगा। जलशक्ति यात्रा में  जिला विकास अधिकारी एके मौर्य, जिला विद्यालय निरीक्षक आरएन विश्वकर्मा, बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुशवाहा, सह जिला विद्यालय निरीक्षक पीके पांडे, डॉक्टर बीएस यादव, मेजर ऋषिकेश, सिविल डिफेंस के डिप्टी कंट्रोलर ओंकार नाथ शर्मा, होटल एसोसिएशन के सरदार योगेंद्र सिंह सिविल लाइंस व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुशील खरबंदा प्रमोद बंसल अनिल अग्रवाल ऋषि अग्रवाल अजीत सिंह और राष्ट्रीय सेवा योजना इलाहाबाद विश्वविद्यालय की समन्वयक डॉ मंजू सिंह सहित तमाम संगठनों के प्रमुख शामिल थे।


Share To:

Post A Comment: