कलयुग की कलम(सोनू त्रिपाठी रिपोर्टर)

Kkkन्यूज रिपोर्टर कटनी :-मध्यप्रदेश में हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लगातार हो रही बारिश के कारण भोपाल सहित 30 जिलों में स्थिति गंभीर हो गई है। राज्य आपदा मोचन बल के जवान पानी में फंसे हुए लोगों के बचाव कार्य में लगे हुए हैं। प्रशासन ने भोपाल, विदिशा, सीहोर, रायसेन, मंडला, उज्जैन और नरसिंहपुर जिलों में 12 वीं तक के स्कूलों में 9 सितंबर को अवकाश घोषित कर दिया गया है। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार और मंगलवार को प्रदेश के भोपाल, होशंगाबाद, जबलपुर, खंडवा, खरगोन, रासयेन, सीहोर में भारी बारिश हो सकती है। राजधानी भोपाल में रविवार को 9 घंटे में 6 सेमी। पानी गिरा। इससे सड़कों और निचली बस्तियों में पानी भर गया। भारी बारिश के कारण हरदा जिला जेल के दो बैरकों को खाली कराया गया है। जेल प्रशासन ने इसमें रहने वाले कैदियों को दूसरे सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट किया है। बारिश की वजह से सिर्फ इंसान ही नहीं, बल्कि भगवान भी बाढ़ का कहर झेल रहे हैं। लगातार भारी वर्षा से नदियों का पानी खतरनाक स्तर तक पहुंचने लगा है। खरगोन जिले के महेश्वर में नर्मदा नदी के सभी किनारे और घाट डूब गए हैं। घाट पर बने शिवलिंग जलमग्न हैं। मुख्य घाट पर हनुमान की प्रतिमा का आधा हिस्सा भी बाढ़ में डूबा हुआ है। प्रशासन ने नर्मदा का जलस्तर बढ़ते देख श्रद्धालुओं, पर्यटकों और साधु-संतों से अपील की है कि वे नदी से दूर रहें।

Share To:

Post A Comment: