पति की लंबी उम्र के लिए सुहागिनों ने की पूजा अर्चना, रखा निर्जला व्रत

कलयुग की कलम (अंकित झारिया रिपोर्टर)

उमरियापान:-  सुहागिनों का हरितालिका तीज हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। तीज को लेकर सुहागिन महिलाएं सोमवार को पूरे दिन उपवास पर रहीं। घरों एवं मंदिरों में शिव पार्वती का पूजन कर व्रतियों ने पति की लंबी उम्र की कामना की। अखंड सौभाग्य की कामना को लेकर श्रद्धा एवं विश्वास के साथ महिलाओं ने सुख-शांति वैभव के साथ पति के दीर्घायु की कामना के साथ पूजा-अर्चना की। महिलाओं ने सज धजकर भगवान शिव, पार्वती व गणपति की विधि विधान से पूजन-अर्चना की। इस अवसर पर कुछ महिलाओं ने सामूहिक रात्रि जागरण कर मंगलवार को निर्जला व्रत का परायण भी किया।शाम को सुहागिनों ने नहा धोकर नए वस्त्र पहन व सोलह श्रृंगार कर शिवालयों में भगवान शिव, माता पार्वती व गणेश भगवान की विधि विधान से पूजा-अर्चना की। माता पार्वती को महिलाओं ने सुहाग का सामान चढ़ाया। पंडितों ने पूजन अर्चना के बाद समूह में एकत्र महिलाओं को हरितालिका तीज की कथा भी सुनाई। पंडित ब्रजेश गौतम ने व्रत संबंधी कथा में बताया कि हरितालिका तीज व्रत को सबसे पहले राजा हिमवान की पुत्री माता पार्वती ने भगवान शिव को पति के रूप में प्राप्त करने के लिए रखा था। पार्वती के तप और आराधना से खुश होकर भगवान शिव ने उन्हें पत्नी के रूप में स्वीकार किया था। इस ध्येय को ध्यान में रखकर सुहागिन महिलाओं ने अक्षय सौभाग्य के लिए श्रद्धा, लगन और विश्वास के साथ हरितालिका तीज का व्रत रखा। बड़ी माई मंदिर, शिव पार्वती मंदिर,मरही माता मंदिर सहित उमरियापान समेत  आसपास के सभी शिवालयों मंदिरों में पूजा अर्चना के लिए महिलाओं की भारी भीड़ लगी रही।


Share To:

Post A Comment: