मोहर्रम पर निकला ताजिया, जुलूस में शामिल हुए सैकड़ों लोग,देर रात चलता रहा जुलूस

कलयुग की कलम (अंकित झारिया- रिपोर्टर)

उमरियापान: इंसाफ के लिए अपनी जान कुर्बान करने वाले हजरत इमाम हसन व इमाम हुसैन की याद में मंगलवार को उमरियापान सहित आसपास के विभिन्न गांवों में मोहर्रम पर्व पर ताजिया जुलूस निकाला गया। गमगीन माहौल में निकाले गए यौम-ए-आसूरा के इस जुलूस युवाओं ने लाठियों से हैरतअंगेज करतब प्रदर्शन किया।वहीं जुलूस के दौरान सवारियां लिए बाबा भी चलते रहे।

उमरियापान में  इस बार भी दो गुटों में ताजिया देखने को मिले।मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ताजिया को इमामबाड़ों से उठाकर नगर के मुख्य मार्गों से ताजिया जुलूस निकाला। या हुसैन या हसन या अली या हुसैन के बुलन्द नारे लगा ताजिया जुलूस में सैकड़ों मुस्लिम समाज के लोग उमड़े। अनेको स्थानों पर हिन्दू समुदाय के लोगों ने ताजिया पर फूल बरसा स्वागत किया। बाबाओं को दूध पिलाया। बाबा से खुशीहाली की मन्नतें मांगी।इस दौरान हिन्दू मुस्लिम समुदाय के लोगों में एकता की मिशाल दिखी।हजरत इमाम हुसैन व इमामे हसन की याद में लोगों ने सिरनी की और तबरूक के तौर पर लोगों में बांटे। देररात कर्बला के मैदान में ताजिया को दफनाया गया। उमरियापान के अलावा परसेल, घुघरी, पिंडरई पिपरिया, कटरिया सहित आसपास के गांवों में भी ताजिया निकाला गया।जगह- जगह लंगर का आयोजन किया गया। इस दौरान जुलूस में बड़ी संख्या में महिला- पुरूष, युवा और बच्चे शामिल रहे।इस दौरान नायब तहसीलदार हरिसिंह धुर्वे, थाना प्रभारी गोविंद सुरैया सहित पुलिस बल सुरक्षा व्यवस्था में तैनात रहें।




Share To:

Post A Comment: