चित्रकूट सातवीं आर्थिक जनगणना 2019  का एक दिवसीय प्रशिक्षण अभिकार्य शाला का आयोजन कर्वी ब्लॉक सभागार में सीएससी जिला प्रबन्धक मनीष सिंह व जिला समन्वयक बदरुद्दीन खान  द्वारा किया गया। जिसमें  विशिष्ट अतिथि नोडल अधिकारी फ़तेहपुर श्री एस के यादव जी उपस्थित हुये।कहा गया है कि कृषि क्षेत्र के अलावा आर्थिक गणना में घरों में चल रहे छोटे उद्यम, वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन या वितरण कार्य में लगी इकाइयों समेत सभी प्रतिष्ठानों को शामिल किया जाएगा।सातवें आर्थिक गणना के लिए सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय ने सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लि. के साथ गठजोड़ किया है. सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विसेज इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की खास उद्देश्य से बनाई गयी इकाई है।आर्थिक जनगणना भारत की भौगोलिक सीमाओं के भीतर स्थित सभी प्रतिष्ठानों का संपूर्ण विवरण है।आर्थिक जनगणना देश के सभी प्रतिष्ठानों के विभिन्न संचालनगत एवं संरचनागत परिवर्ती कारकों पर भिन्न-भिन्न प्रकार की सूचनाएँ उपलब्ध कराती है।आर्थिक जनगणना देश में सभी आर्थिक प्रतिष्ठानों की आर्थिक गतिविधियों के भौगोलिक विस्तार/क्लस्टरों, स्वामित्व पद्धति, जुड़े हुए व्यक्तियों इत्यादि के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी भी उपलब्ध कराती है।आर्थिक जनगणना के दौरान संग्रहित सूचना राज्य एवं ज़िला स्तरों पर सामाजिक-आर्थिक विकास संबंधी योजना निर्माण के लिये उपयोगी होती है।इस मौके पर ब्लॉक के लगभग 90 सुपरवाइज़ एवं प्रागणक उपस्थित रहे।  

Share To:

Post A Comment: