बहोरीबंद के खडरा पंचायत पर कई सालों से मार्बल ठेकेदारों को संरक्षण देने का ग्रामीणों ने लगाया आरोप

कलयुग की कलम (पप्पू उपाध्याय बहोरीबंद रिपोर्टर)

Kkkन्यूज रिपोर्टर कटनी/बहोरीबंद :- वाहनों में बैठी सवारी और वाहन चालक मौत की घंटी गले में बांधकर निकलते हैं इस रास्ते से जिला कटनी तहसील बहोरीबंद के ग्राम पंचायत खडरा मैं कई सालों से लीजो के माध्यम से चल रही मार्बल खदान लीज ठेकेदारों जेपी अग्रवाल द्वारा लोगों की सुविधाएं भी नहीं देखी जाती। खड़रा से गौरहा होते हुए सिहोरा मार्ग पर रोड से लगी ओजस्वी मार्वल पिछले कई सालों से धसक रही है। जिसका बार-बार सुधार करवाया जा रहा है। परंतु शासकीय अधिकारीयों द्वारा उस खदान पर रोक नहीं लगाई जा रही है। जिससे आने जाने वाले राहगीरों को मौत का संकट मंडराता रहता है। रोड की चंद दूरी में खदान लगाई गई है जो नियम विरुद्ध है जिसे शासन प्रशासन के अधिकारी भी भली-भांति  जानबकार है। फिर भी इस खदान  की लीज को रद्द नहीं किया जा रहा है। अरबों खरबों का व्यापार करने वाले ठेकेदार को ना तो रास्ता दिख रही और ना ही रास्ते में चलने वाले लोगों की जिंदगी

उन्हें तो केवल रुपया ही नजर आ रहा है। चंद दिनों पहले यह रोड से लगी खदान दूसरी बार धसक चुकी है जिसमें फिर से लीपापोती कर बाउंड्री बनाने का कार्य चालू कर दिया गया है। जिससे खदान में लगे कार्य  में पर्दा मिल जाए। गैरकानूनी रोड से सटाकर खदान बनाने वाली कंपनी को तत्काल सीज करने की ग्रामीणों द्वारा मांग की गई। ग्रामीणों का कहना है कि यह खदान बहुत ही गहरी होती जा रही है और रोड से चंद दूरी पर खदान बनी हुई है और बार-बार रोड सहित धसकती भी जा रही है और इसका प्रभाव बाजू में बसे घुटेही  गांव पर भी पड़ता है जब मार्बल खदानों पर पत्थर तोड़ने के बम लगाए जाते हैं और पत्थर फूटता है तो वह गांव में घरों में आकर पत्थर गिरते हैं और बम फूटने की धमक से  घरों की दीवारें फट जाती  है जिससे घटना दुर्घटना का अंदेशा हमेशा बना रहता है । उच्च अधिकारियों से ग्रामीणों ने प्रार्थना की है कि इस खदान को बिना किसी कार्यवाही किए तत्काल चीज की जाए।



Share To:

Post A Comment: