कलयुग की कलम(सोनू त्रिपाठी रिपोर्टर)

Kkkन्यूज रिपोर्टर कटनी :- मध्य प्रदेश रेत खनन परिवहन भंडारण एवं व्यापार नियम 2019 पूर्व प्रदेश में 30 अगस्त 2019 से प्रभाव सील हो गया है। इसके तहत सीमांकित एवं घोषित रेत खदानें समूहवार ई-निविदा के माध्यम से निवर्तित की जायेगी। इन नियमों के प्रभावशील होने के पूर्व प्रदत्त रेत खनिज भंडारण की समस्त अनुज्ञप्तियां निरस्त मानी जाएंगी। अनुसूचना के प्रकाश से 7 दिवस के भीतर अनुज्ञप्तिधारी अपने भंडारण स्थल पर भंडारित रेत की मात्रा का ब्यौरा कलेक्टर को प्रस्तुत करेंगे। ब्यौरा प्राप्त होने के बाद सत्यापित 1 लाख  घन मीटर तक की रेत खनिज मात्रा को 30 दिवस के भीतर हटाने और निपटारे की अनुमति कलेक्टर द्वारा अनुज्ञप्तिधारी को दी जाएगी। निर्धारित समयावधि तक रेत खनिज नहीं हटाये जाने की स्थिति में भण्डारण स्थल पर पाया जाने वाली रेत जप्त कर राजसात कर लिया जायेगा। इसकी जानकारी शनिवार को कलेक्टर शशि भूषण सिंह की अध्यक्षता में संपन्न अधिकारियों की बैठक में दी गई है। खनिज अधिकारी कटनी ने मध्य प्रदेश रेत खनन, परिवहन ,भण्डारण एवं व्यापार नियम 2019 का विस्तार पूर्वक पावर प्वाईंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जानकारी दी । खनिज या रेत के अवैध परिवहन के मामले में अब वाहन के प्रकार और एक्सल के अनुसार प्रशसमन शुल्क और शास्ति अधिरोपित होगी। जिसमें बैध अभिवहन के बगैर परिवहन करते पाये जाने पर ट्रैक्टर में 10 हजार शुल्क और 25 हजार शास्ति अधिरोपित की जायेगी। 2 एक्शल 6 पहिया वाहनों में 25 हजार प्रशमन शुल्क और 50 हजार शास्ति, डम्फर 6 पहिया वाहन 50 हजार रुपये प्रशमन शुल्क 1 लाख शक्ति, 3 एक्शल दस पहिया वाहन में 1 लाख रुपये प्रशमन शुल्क और 2 लाख रुपये शास्ति, 4 - 6 एक्शल दस पहिया वाहन से अधिक में 2 लाख रुपये प्रशमन शुल्क और 4 लाख रुपये शास्ति अधिरोपित करने का प्रावधान किया गया है।

Share To:

Post A Comment: