अयोध्या में आयोजित दीपोत्सव  में लक्षित 05 लाख 50 हजार

दीपक जलाकर गिनीज बुक आॅफ वर्ल्ड रिकाॅर्ड में अंकन कराया जायेगा

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
       उत्तर प्रदेश
विकास कुमार पटेल

राम की पैड़ी पर 04 लाख तथा अयोध्या के प्रमुख धार्मिक स्थलों पर 01 लाख 50 हजार दीप प्रज्ज्वलन कराने हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करा ली जाए: राजेन्द्र कुमार तिवारी सरयू नदी में किसी भी नाले का गन्दा पानी कतई न जाने पाए: मुख्य सचिव

दीपोत्सव कार्यक्रम के पहले किसी भी दिन‘‘ रन फाॅर आस्था’’ कार्यक्रम का आयोजन कराकर पंचकोसी परिक्रमा कराई जाए: राजेन्द्र कुमार तिवारी वीआईपी के भ्रमण के दौरान जन-सामान्य को असुविधा न हो, बेहतर यातायात व्यवस्था हेतु वीआईपी एवं जनता का रूट अलग-अलग बनाया जाए: मुख्य सचिव दीपोत्सव कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार कराने हेतु दूरदर्शन के माध्यम से सजीव प्रसारण  कराया जाए: राजेन्द्र कुमार तिवारी भजन संध्या स्थल सहित अन्य आवश्यक निर्माण कार्य आगामी 21 नवम्बर  तक प्रत्येक दशा में गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराया जाए: मुख्य सचिव आम जनता की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए अयोध्या में कार्यक्रम के सजीव प्रसारण हेतु प्रमुख स्थानों पर एलईडी टीवी लगाई जाएं: राजेन्द्र कुमार तिवारी मुख्य सचिव ने अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा एवं 

स्थलीय निरीक्षण कर विभागीय अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

लखनऊ: 15 अक्टूबर, 2019

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री राजेन्द्र कुमार तिवारी ने निर्देश दिए हैं कि अयोध्या में आयोजित दीपोत्सव कार्यक्रम में लक्षित 05 लाख 50 हजार दीपक जलाकर गिनीज बुक आॅफ वल्र्ड रिकाॅर्ड मे अंकन कराया जाए। उन्होंने बताया कि राम की पैड़ी पर 04 लाख तथा अयोध्या के प्रमुख धार्मिक स्थलों पर 01 लाख 50 हजार दीप प्रज्ज्वलन कराने हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करा ली जाएं। उन्होंने यह भी कहा कि दीपोत्सव कार्यक्रम के पहले किसी भी दिन ‘‘रन फाॅर आस्था’’ कार्यक्रम का आयोजन कराकर पंचकोसी परिक्रमा कराई जाए। उन्होंने कार्यक्रम के दौरान आम जनता को बेहतर यातायात की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए निर्देश देते हुए कहा कि वीआईपी के भ्रमण के दौरान जन-सामान्य को असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि बेहतर यातायात व्यवस्था हेतु वीआईपी एवं जनता का रूट अलग-अलग बनाया जाए ताकि किसी भी प्रकार की अव्यवस्था कतई न होने पाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि सरयू नदी में किसी भी नाले का गन्दा पानी कतई न जाने पाए। उन्होंने कहा कि नाले की टेपिंग कराकर गन्दे पानी को नदी में प्रवाहित होने से रोका जाए। उन्होंने कहा कि सीवरेज टेप कराने हेतु 37 करोड़ 67 लाख की योजना से अयोध्या में कराये जा रहे कार्यों को गुणवत्ता के साथ आगामी नवम्बर, 2019 के पहले पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने कहा कि कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए तथा गुणवत्ता में कमी पाये जाने पर सम्बन्धित अधिकारियों को बख्शा नहीं जाएगा।मुख्य सचिव आज अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम के तैयारियों की समीक्षा करने के साथ-साथ प्रमुख स्थानों का स्थलीय निरीक्षण कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शहर में विशेष सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के साथ-साथ शहर में पर्याप्त अस्थायी शौचालयों का निर्माण एवं मोबाइल शौचालय की व्यस्था पर्याप्त संख्या में व्यवस्था कराई जाए ताकि पर्यटकों एवं तीर्थ यात्रियों को खुले स्थान में शौच जाने हेतु विवश न होना पड़े। उन्होंने कहा कि शौचालयों की नियमित सफाई की स्वच्छता का ध्यान रखते हुए प्रत्येक घन्टे शौचालयों की सफाई की निरन्तर  व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जाए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि दीपोत्सव कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार कराने हेतु दूरदर्शन के माध्यम से सजीव प्रसारण कराने हेतु आवश्यक व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित कराई जाएं।  बैठक में बताया गया कि फैजाबाद नगर गृह संयोजन पेयजल योजना के अन्तर्गत  4.79 करोड़ रूपये की धनराशि प्रदेश सरकार द्वारा स्वीकृत कराकर 3.94 करोड़ रूपये की धनराशि अवमुक्त कराई जा चुकी है। फैजाबाद नगर पेयजल योजना फेज-2 हेतु 17.28 करोड़ रूपये की धनराशि स्वीकृत कराकर 13.92 करोड़ रूपये की धनराशि अवमुक्त कराई जा चुकी है जिसके अन्तर्गत शहर की वितरण प्रणाली, गृह संयोजन, वाटर मीटर, पम्पिंग प्लान्ट के रिप्लेसमेन्ट एवं आॅटोमेशन का कार्य कराये जाने के निर्देश दिए गए हैं। इसी प्रकार अयोध्या नगर गृह संयोजन पेयजल योजनान्तर्गत 1.51 करोड़ रूपये की धनराशि स्वीकृत कराकर 0.75 करोड़ रूपये की धनराशि निर्गत कराई जा चुकी है। गृह संयोजन पेयजल योजनान्तर्गत अयोध्या नगर में अभी तक 2375 नगर गृह संयोजन कराए जा चुके हैं। अयोध्या नगर पेयजल योजना फेज-2 के अन्तर्गत 16.24 करोड़ रूपये की स्वीकृत धनराशि के सापेक्ष 7.99 करोड़ रूपये की धनराशि अवमुक्त कराई जा चुकी है। योजनान्तर्गत नगर के नवविकसित एवं पेयजल विहीन विभिन्न क्षेत्रों में पाइपलाइन विस्तार 30.05 किलोमीटर, दो नग रिबोर नलकूप, दो नग भूमिगत जलाशय एवं 719 नग गृह संयोजन तथा आॅटोमेशन का कार्य कराने के निर्देश दिए गए हैं। योजनान्तर्गत 29 किलोमीटर वितरण प्रणाली, 01 नग रिबोर नलकूप एवं 716 नग पेयजल गृह संयोजन का कार्य पूर्ण कराने के फलस्वरूप अवशेष कार्यों को यथाशीघ्र गुणवत्ता के साथ कराने के निर्देश दिए हैं।  मुख्य सचिव ने समीक्षा के दौरान यूपीपीसीएल का कार्य लक्षित लक्ष्य के अनुसार न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि अवशेष कार्य को लक्षित लक्ष्य के अनुसार निर्धारित तिथि तक प्रत्येक दशा में पूर्ण कराया जाए। उन्होंने सम्बन्धित विभागीय अधिकारी को कार्य में प्रगति न लाने की स्थिति पर जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि सम्बन्धित अधिकारी द्वारा आगामी 03-04 दिनों में किये गये कार्यों की समीक्षा कर वांछित जानकारी शासन को उपलब्ध कराएं ताकि इनके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही कराने के निर्देश दिए जा सकें।  श्री तिवारी ने यह भी निर्देश दिए कि अयोध्या में पतली गलियों को दृष्टिगत रखते हुए आकस्मिक घटना को रोकने हेतु फायर प्लान बनाया जाए ताकि कोई आकस्मिक घटना घटित होने पर सुविधाजनक एवं तत्काल फायर बिग्रेड की गाड़ियों से पानी तत्काल पहुंच सके। उन्होंने कहा कि दीपोत्सव कार्यक्रम ज्ञान एवं भक्ति का प्रतीक तथा बुराई में अच्छाई का प्रतीक है जिसमें आमजन की भागीदारी सुनिश्चित कराने हेतु हर संभव प्रयास किए जाएं। उन्होंने कहा कि दीपोत्सव कार्यक्रम में सम्पूर्ण अयोध्या को दीपों से प्रकाशित कराने हेतु शासकीय भवनों सहित सार्वजनिक स्थानों में दीप जलाने के लिए व्यापक योजना बनाई जाए। उन्होंने कहा कि बेहतर दीपोत्सव कराने वाले शासकीय भवनों सहित सामाजिक संस्थाओं को पर्यटन विभाग द्वारा पुरस्कृत भी कराया जाए।  मुख्य सचिव ने कहा कि विद्यालयों के कैम्पस में बेहतर सफाई-व्यवस्था कराकर दीपोत्सव कार्यक्रम कराए जाएं। दीपोत्सव कार्यक्रम में भाग लेने वाले दीप जलाने वाले श्रेष्ठ 51-51 बेसिक व माध्यमिक विद्यालयों को भी पर्यटन विभाग द्वारा पुरस्कृत कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि शोभा यात्रा का आयोजन प्रातः 10 बजे से प्रारंभ कराकर अपरान्ह 2 बजे तक पूर्ण करा लिया जाए ताकि जनता को किसी भी प्रकार की असुविधा न होने पाए। उन्होंने कहा कि आम नागरिकों को धार्मिक मनोरंजन हेतु शहर के विभिन्न कम से कम 11 स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी कराया जाए। उन्होंने कहा कि भजन संध्या स्थल सहित अन्य आवश्यक निर्माण कार्य आगामी 21 नवम्बर तक प्रत्येक दशा में गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराया जाए। उन्होंने कहा कि आम जनता की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए अयोध्या में कार्यक्रम के सजीव प्रसारण हेतु प्रमुख स्थानों पर एलईडी टीवी लगाई जाएं। उन्होंने कहा कि आयोजन के दौरान निर्बाध विद्युत आपूर्ति एवं स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए तथा आयोजन के दौरान पाॅलिथीन का कतई उपयोग न किया जाए और वेस्ट सामग्री नदी में न फेंकी जाए।  श्री तिवारी ने दीपोत्सव कार्यक्रम को और अधिक भव्य एवं ऐतिहासिक बनाने हेतु प्रमुख साधु-सन्तों के साथ विस्तृत विचार-विमर्श किया। विचार-विमर्श कर उनके द्वारा दिये गये सुझावों का क्रियान्वयन सुनिश्चित कराने के सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने साधु-सन्तों से अनुरोध किया कि अयोध्या के सभी मन्दिरों में दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान दीपक जलाने की व्यवस्था भी कराएं।  समीक्षा एवं निरीक्षण के दौरान अपर मुख्य सचिव, सूचना एवं गृह  अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह, प्रमुख सचिव, पर्यटन  जितेन्द्र कुमार, प्रमुख सचिव, सिंचाई श्री टी. वेंकटेश, प्रबन्ध निदेशक जल निगम, विकास गोठलवाल, सूचना निदेशक श्री शिशिर, मा0 सांसद एवं विधायकगण तथा सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।





Share To:

Post A Comment: