कांग्रेस विधायक के ड्राइवर और गुर्गों ने किया दशहरा देखने आये सरपंच पर हॉकी से हमला,गाडी के शीशे भी तोड़े

मामला बड़वारा थाना क्षेत्र में चल रहे दशहरा का

कलयुग की कलम(सोनू त्रिपाठी रिपोर्टर)

कटनी :- बड़वारा में मंगलवार रात दशहरा चल समारोह में विधायक के चालक व उनके साथियों ने पौनिया सरपंच के साथ जमकर विवाद किया। धक्कामुक्की व वाहन में तोडफ़ोड़ की। घटना के बाद गुस्साए सरपंच के साथी व स्थानीय लोग थाने पहुंचे। पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने पर जमकर हंगामा किया और थाने में ही धरने पर बैठ गए। मामले को बढ़ता देख पुलिस ने छह लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया और जांच शुरू की। इधर बुधवार को पूरे मामले का पटाक्षेप करने दोनों पक्षों के लोग सक्रिय रहे। मामले को लेकर पुलिस भी कुछ कहने से बचती नजर आई। पौनिया सरपंच दीपक गोस्वामी ने आरोप लगाते हुए बताया कि बड़वारा में मंगलवार देररात दशहरा जुलूस देखने साथियों के साथ आए थे। जैसे ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सामने पहुंचे तो बड़वारा विधायक विजयराघवेंद्र सिंह का वाहन चालक संजय रजक व विधायक के साथी शाहिद खान, बिल्लू निगम, शहजाद खान, शैलू जायसवाल, विकास निगम, विक्रांत निगम, गुल्लू भाईजान आदि ने हमला बोल दिया। जमकर धक्का-मुक्की की। इस दौरान अफरा-तफरी मच गई। बड़वारा थाना प्रभारी हरबचन सिंह भी बल के साथ मौके पर पहुंचे। इसी बीच एक युवक मेरे ऊपर हॉकी से हमला करने दौड़ा तो थाना प्रभारी ने हॉकी छुड़ा लिया। गुस्साए युवकों ने कार में तोडफ़ोड़ कर दी। बताया जा रहा है कि दोनों पक्षा में पुराना विवाद है। उसी को लेकर मंगलवार रात दोनों पक्ष भिड़ गए। दो घंटे तक थाने में चला ड्रामा कार्रवाई की मांग को लेकर दीपक गोस्वामी व उनके साथी बड़वारा थाने पहुंचे। मारपीट, जानलेवा हमला व लूट की रिपोर्ट न दर्ज होने पर दो घंटे से अधिक समय तक धरने पर बैठे। इस दौरान पीडि़तों ने कहा कि लूट की कार्रवाई पुलिस नहीं कर रही। पुलिस पर भी मिलीभगत का आरोप लगाया। पीडि़त थाना प्रभारी को यह बोलकर थाना परिसर से चलते बने कि आप सुनवाई नहीं कर रहे हैं एक पक्षीय कार्रवाई कर रहे हैं तो फिर आगे के लिए आप जिम्मेदार होंगे। थाना प्रभारी के सामने तोडफ़ोड़ दीपक गोस्वामी सहित स्थानीय लोगों का आरोप है कि थाना प्रभारी के सामने विधायक के चालक व साथियों ने धक्का-मुक्की की। जानलेवा हमला करने आए थे। थाना प्रभारी हरबचन सिंह ने खुद हॉकी युवको से छुड़ाई। थाना प्रभारी के सामने विधायक के साथी वाहन में तोडफ़ोड़ करते रहे, लेकिन पुलिस ने नहीं रोका। घटना के बाद लोगों में रहा जमकर आक्रोश, लूट के बाद नहीं लिखी बड़ा पुलिस ने रिपोर्ट। धरने पर बैठे लोगों ने कहा जब सरपंच के साथ इस तरह हो रहा तो फिर आम जनता के साथ क्या होगा। पीडि़तों ने कहा गुर्गों ने रुपये और सोने की चैन भी लूटी, लेकिन पुलिस ने इस पक्ष को नहीं सुना। लोगों ने कहा कि पुलिस यदि कार्रवाई नहीं करती तो थाने की चौखट में दम तोड़ देंगे, भूख हड़ताल करेंगे। बड़वारा पुलिस ने धारा 294, 323, 427, 506, 147 के तहत प्रकरण दर्ज कर शुरू की जांच, नहीं लगाई लूट की धारा। सामने आई बड़ी बेपरवाही दहशत में रहे लोग हैरानी की बात तो यह रही कि इस वारदात से पूरा दशहरा चल समारोह खराब हुआ। विवाद और हंगामा के बाद दशहरा में पहुंचे लोग दहशत में रहे। लोगों ने कहा कि जब जिम्मेदार व्यक्तियों के साथियों द्वारा इस तरह से वारदात को अंजाम दिया जा रहा है वह भी दूसरे जनप्रतिनिधि के साथ तो फिर आम जनता का क्या हस्र होगा। वहीं दीपक गोस्वामी का आरोप था कि विधायक के सामने उनके साथियों ने इस वारदात को अंजाम दिया, लेकिन विधायक ने रोकने का प्रयास नहीं किया।

इनका कहना है

स्वास्थ्य केंद्र के सामने विवाद हुआ है। इसमें छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। लूट की शिकायत की है, लेकिन हुई नहीं इसलिए धारा नहीं लगाई। अभी मैं व्यस्त हूं। हत्या के मामले में जांच कर रहा हूं।

हरबचन सिंह, बड़वारा थाना प्रभारी।

मेरे साथ में विधायक के चालक व अन्य पांच साथियों ने मिलकर विवाद किया। वाहन में तोडफ़ोड़ की। इसकी शिकायत बड़वारा थाने में की। पुलिस कार्रवाई करने से बचती नजर आई। 

दीपक गोस्वामी सरपंच ग्राम पंचायत पौनिया। 

किसी बात को लेकर मामूली विवाद हुआ है। दीपक गोस्वामी ने जिन लोगों के नाम लिखाए हैं वे मंच में मेरे पास थे, फिर भी झूठी शिकायत कर दी। मामले का समाधान हो गया है।

विजयराघवेंद्र सिंह, बड़वारा विधायक।

Share To:

Post A Comment: