जनहित में जारी............

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ कॉमर्स के बेगुनाह पॉंच छात्रों को मिर्ची कॉंड में फँसाने वाले भाजपा की मानसिकता के प्रोफ़ेसर एंव एचओडी कितना भी मैनेजमेंट करके अब इनके काले-कारनामों से बचेंगे नहीं।

सामान्य बात हैं की प्रॉक्टोरियल बोर्ड छात्रों को दोषी मानकर एचओडी को सजा का निर्णय करने का कहेगा तो ये स्पष्ट हैं की सजा प्रॉक्टोरियल बोर्ड के ही निर्देश पर दी गई।इसे साधारण शब्दों में यू समझिये की हाईकोर्ट ने ज़िला अदालत को बोला की ये दोषी हैं इनको सजा ज़िला कोर्ट सुनाएँ।तब क्या ज़िला कोर्ट हाईकोर्ट के ख़िलाफ़ जाकर सजा नहीं सुनाएगी।ये हास्यप्रद बात हैं।

डीएवीवी की साख को समाप्त करने वाले भाजप के बुजुर्ग छात्र नेताओं के इशारे पर युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।कॉंग्रेस की कमलनाथ सरकार में युवाओं का भविष्य सुरक्षित रखने एंव न्याय दिलाने के लिए ऐसी साज़िशों एंव डीएवीवी के कर्मचारियों के भ्रष्टाचार को लगातार उजागर किया जाएगा।

डीएवीवी की अनुशासन कमेटी तीन सवालों के जवाब दे,इन सवालों के जवाब पूरा इन्दौर जानना चाहता हैं:-🔻🔻🔻

(1)🔻इस कॉंड के दोषी छात्रों का सीसीटीवी फ़ुटेज जारी करे।जिसके आधार पर अपराधी माना हैं..???
(2) 🔻इस कॉंड की शिकायतकर्ता कौन सी छात्राएँ हैं।नाम स्पष्ट करे..???
(3) 🔻मिर्ची कॉंड करने वाले रोहित सिंह चौहान खुद अपनी गलती स्वीकार करने के बाद सजा दे दी गई थी तो इन पॉंच बेगुनाह छात्रों को क्यों फँसाया.....???

अनुशासन कमेटी के फर्जी फ़ैसले के बाद चरित्रहनन से आहत होकर ये बेगुनाह छात्र आत्मघाती कदम उठा लेते तो कौन ज़िम्मेदार होता.....???

डीएवीवी में भ्रष्टाचार करने वाले कॉन्ट्रैक्टी प्रोफ़ेसरों ने छात्र-छात्राओं का शोषण करके ब्लेकमेल करने का काम भाजपा के बुजुर्ग छात्र नेताओं के ईशारे पर सालों से करते आ रहे हैं।जिसमें आर्थिक ब्लैकमेल करना मुख्य लक्ष्य होता हैं।
डीएवीवी में भ्रष्टाचार करने वाले भाजपा की मानसिकता से युवा पीड़ी के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों को बेनक़ाब किया जाएगा ।युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ कमलनाथ सरकार में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ।

राकेश सिंह यादव
प्रदेशसचिव
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी
भोपाल


Share To:

Post A Comment: