डेंगू एवं अन्य  रोगों पर रोकथाम की व्यवस्था सुनिश्चित करें

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
       प्रयागराज
 विकास कुमार पटेल

मुख्य सचिव ने डेंगू एवं अन्य वेक्टर जनित रोगों पर प्रभावी नियंत्रण तथा रोकथाम हेतु आवश्यक साफ-सफाई की महत्वपूर्ण भूमिका निर्वहन करने वाले विभागों को दिये निर्देश-

कार्ययोजना के तहत आगामी 25 अक्टूबर, 2019 तक अपेक्षित
कार्यवाहियाँ प्राथमिकता से सुनिेश्चित कराना अनिवार्य: राजेन्द्र कुमार तिवारी

मुख्य सचिव ने शिक्षा विभाग, नगर विकास, स्वास्थ्य विभाग,पंचायतीराज विभाग एवं ग्राम विकास को दिये गये
आदेशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराने के दिये निर्देश

 उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव  राजेन्द्र कुमार तिवारी ने डेंगू एवं अन्य वेक्टर जनित रोगों पर प्रभावी नियंत्रण तथा रोकथाम हेतु आवश्यक साफ-सफाई की महत्वपूर्ण भूमिका निर्वहन करने वाले विभागों को निर्देश दिये हैं कि कार्ययोजना के तहत आगामी 25 अक्टूबर, 2019 तक अपेक्षित कार्यवाहियाँ प्राथमिकता से सुनिश्चित करायें। उन्होंने शिक्षा विभाग, नगर विकास, स्वास्थ्य विभाग, पंचायतीराज विभाग एवं ग्राम विकास को निर्देश दिये हैं कि परिपत्र मे दिये गये आदेशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाये।
मुख्य सचिव ने नगर विकास को निर्देश दिये हैं कि नगर निकायों द्वारा रोग वाहक मच्छरों के पैदा होने की परिस्थितियों को नगण्य करते हुए जनसमान्य को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि नालियों में एकत्रित जल का बहाव सुनिश्चित कराते हुए जल एकत्रित न होने के लिए आवश्यक कार्यवाहियाँ प्राथमिकता से सुनिश्चित कराई जायें। उन्होंने कहा कि सफाई एवं कूड़ा निस्तारण की सुदृढ़ व्यवस्था स्थापित की जाये।
मुख्य सचिव ने यह निर्देश आज प्रदेश के समस्त मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों को परिपत्र भेज कर दिये। उन्होंने कहा है कि मलिन बस्तियों में जल संग्रहित होने के कारण मच्छरों के प्रजनन स्थल अधिक होने की संभावनाओं को दृष्टिगत रखते हुए जल संग्रह वाले स्थानों को पूर्णतः समाप्त करने के प्रयास सुनिश्चित कराये जायें। उन्होंने शहर में बने ओवर टैंक की नियमित साफ-सफाई कराई जाये। उन्होंने कहा कि रोग वाहन मच्छरों की वृद्धि को नगण्य करने हेतु साफ-सफाई के प्रति छात्रों को जागरूक किया जाये। विद्यालयों की नियमित रूप से समुचित सफाई कराई जाये। उन्होंने कहा कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देशित किया जाये कि समस्त विद्यालयों में डेंगू एवं अन्य वेक्टर जनित रोगों के बचाव एवं नियंत्रण हेतु क्या करें एवं क्या न करें। से सम्बंधित जानकारी प्रार्थना असेम्बली स्थल पर उपलब्ध कराने हेतु एक अध्यापक को नामित किया जाये।
 तिवारी ने निर्देश दिये हैं कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा चिकित्सालय परिसर एवं उसके आस-पास आवासीय भवनों में जल भराव की स्थिति कतई उत्पन्न न होने दें। चिकित्सालयों में साफ-सफाई की पर्याप्त व्यवस्था की जाये। उन्होंने कहा कि चिकित्सालय में स्थापित फीवर हेल्प डेस्क पर उपलब्ध कर्मी को निर्देशित करें कि वह बुखार से पीड़ित रोगियों को सहायता उपलब्ध कराते हुये रोगी और उनके तीमारदारों को बचाव एवं नियन्त्रण तथा स्वास्थ्य विभाग में उपलब्ध  सुविधाओं की भी जानकारी उपलब्ध करायें। डेंगू अधिसूचना का क्रियान्वयन सुनिश्चित कराया जाये, निजी चिकित्सालय और पैथाॅलाॅजी के आधार पर डेंगू रोगियों की रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए बाध्य किया जाये। उन्होंने कहा कि इन रिपोर्टों को जनपद की रिपोर्ट में संकलित करते हुए मुख्यालय भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाये। उन्होंने कहा कि एण्टी लार्वा साइडल दवाओं का नियमित छिड़काव कराया जाना सुनिश्चित कराया जाये।
मुख्य सचिव ने पंचायत राज विभाग को निर्देश दिये हैं कि पंचायतराज संस्थाओं को निर्देशित किया जाये कि जल भराव स्थलों को समाप्त कराने के साथ-साथ नाली एवं नालों में जल बहाव को अवरोधित न होने दिया जाये। उन्होंने कहा कि ग्राम स्वास्थ्य एवं स्वच्छता समितियों को सक्रिय करते हुए स्वच्छता की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाये। समिति के माध्यम से फाॅगिंग और लार्वीसाइडल छिड़काव करवाया जाये। हैण्डपम्पों एवं कुओं के पास अनावश्यक जल एकत्रित न होने देने के लिए आवश्यक कार्यवाहियाँ प्राथमिकता से सुनिश्चित कराई जायंे। रोगों से बचाव हेतु जल भराव वाले स्थानों की सफाई एवं उसमें मिट्टी का तेल मच्छर प्रतिरोधक दवा डलवाने की सुदृढ़ व्यवस्था कराई जाये। राजेन्द्र कुमार तिवारी ने ग्राम विकास विभाग को निर्देश दिये हैं कि गांव की स्वच्छता पर विशेष ध्यान देते हुए मनरेगा योजना के माध्यम से चकरोटों एवं रास्तों के किनारे नालियो जल भराव के स्थलों की साफ-सफाई तथा अनावश्यक झाड़ियों की कटाई-छटाई कराई जाये।
Share To:

Post A Comment: