जनप्रतिनिधियों के साथ प्रदेश सरकार कर रही छलावा जारी राशि वितरण नीति के विरोध मे सीएम के नाम एसडीएम को सौपा ज्ञापन

Kkkन्यूज रिपोर्टर कटनी/स्लीमनाबाद :- प्रदेश सरकार ने पंचायतीराज के जनप्रतिनिधियों का हनन कर रही,छलावा कर रहीहै। जो अधिकार जनप्रतिनिधियों को प्राप्त है उनको छीन रही है जो न्यायसंगत नही है।जनप्रतिनिधियों को अपने मद की वित्तीय निधि खर्च करने का अधिकार है। लेकिन मध्यप्रदेश शासन द्वारा जनप्रतिनिधियों की भावना के विरुद्ध जारी राशि वितरण नीति का खेल किया जा रहा है।यह बातें बहोरीबंद जनपद अध्यक्ष अनीता जयरत्नम ने स्लीमनाबाद तहसील कार्यालय मैं बुधवार को जनप्रतिनिधियों की जारी राशि वितरण नीति के विरोध मे ज्ञापन सौपते हुये कही। बुधवार को बहोरीबंद विकासखण्ड के सभी 24 जनपद सदस्यों ने स्लीमनाबाद तहसील कार्यालय पहुँचकर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम सपना त्रिपाठी को ज्ञापन सौपा।

ज्ञापन के माध्यम जनपद सदस्यों ने कहा कि वैसे ही प्रदेश सरकार ने 5 माह की लेटलतीफी से 11 सितंबर 2019 को निधि जारी की गयी ।जिससे जनप्रतिनिधियों को राहत की सांस मिली थी कि अब वे गाँवो मैं विकास कार्य करा सकेंगे।लेकिन अचानक 20 सितंबर 2019 को राज्य शासन स्तर से आगामी आदेश तक के लिए निधि खर्च पर पाबंदी लगा दी गयी।फिर 25 सितंबर 2019 को जारी आदेश मैं राशि का उपयोग नवीन कोई भी निर्माण कार्य मैं ना किये जाने का उल्लेख करते हुए शासकीय भवनों व क्षतिग्रस्त पुलियों की मरम्मत हेतु आदेश जारी किए गए।

जनपद सदस्यों ने कहा कि शासन की यह नीति न्यायसंगत नही है।जनप्रतिनिधि अगर अपनी निधि से कोई भी नवीन कार्य नही करा सकते कैसे गाँवो मैं विकास कार्य होंगे।कुछ माह बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने है ।ऐसे मैं जनता क्या जवाब जनप्रतिनिधियों को देगी।

इसलिए प्रदेश सरकार पूर्व की भांति जारी गाइडलाइन को यथावत रखे नही तो आगामी दिनों प्रदेश के समस्त जनप्रतिनिधि प्रदेश सरकार के खिलाफ लामबंद होंगे।

इस दौरान जनपद उपाध्यक्ष शंकर महतो,विकास पांडेय,नवीन पांडेय,मीरा अग्रहरि,आशा बाई, कौशिल्या बाई, सियाबाई, राधा बाई,तुलसा नायक,गोपाल सहित अन्य जनपद सदस्यों की उपस्थिति रही।

Share To:

Post A Comment: