जनपद में प्याज की जमाखोरी तथा मुनाफाखोरी को रोकने हेतु शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों के लिए टीमों का किया गया गठन

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
        प्रयागराज
विकास कुमार पटेल

निर्धारित भण्डारण सीमा से अधिक प्याज रखने वाले व्यापारियों के प्रतिष्ठानों पर प्रर्वतन की प्रभावी कार्यवाही किये जाने के निर्देश

15 अक्टूबर, 2019 प्रयागराज।

जिलाधिकारी प्रयागराज ने बताया है कि भारत सरकार के अधिसूचना के के द्वारा प्याज के व्यापारियों पर भण्डारण सीमा थोक विक्रेता के लिये 50 मी0 टन और फुटकर विक्रेता के लिए 10 मी0टन दिनांक 30 नवम्बर, 2019 तक के लिए निर्धारित करते हुए लागू की गई है। जिसके क्रम मे आयुक्त, खाद्य एवं रसद विभाग के द्वारा प्याज की बढ़ती कीमतों के दृष्टिगत उपरोक्त भण्डारण सीमा प्रभावी रूप से लागू किये जाने हेतु जनपद में टीम गठित कराकर प्याज के व्यापारियों के प्रतिष्ठानों पर प्रर्वतन की प्रभावी कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये गये हैं ताकि प्याज की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लग सके एवं व्यापारियों की जमाखोरी एवं मुनाफाखोरी की प्रवृत्ति पर रोक लगायी जा सके। निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराये जाने हेतु जनपद में प्याज की कीमतों पर अंकुश लगाये जाने तथा व्यापारियों की जमाखोरी तथा मुनाफाखोरी को रोकने हेतु प्याज के व्यापारिक प्रतिष्ठानों की जांच/प्रर्वतन की प्रभावी कार्यवाही हेतु टीमों का गठन किया गया है, जिसमें नगर क्षेत्र प्रयागराज के लिए अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम, पूर्ति निरीक्षक तहसील-सदर, मण्डी सचिव, मण्डी परिषद मुण्डेरा। अपर नगर मजिस्ट्रेट द्वितीय, पूर्ति निरीक्षक प्रखण्ड-02, विपणन निरीक्षक सदर। अपर नगर मजिस्ट्रेट तृतीय, पूर्ति निरीक्षक प्रखण्ड-04, विपणन निरीक्षक अलोपी बाग के नेतृत्व में 03 जांच टीम का गठन किया गया हैं, जो नगर क्षेत्र में प्याज की जमाखोरी करने वालों की जांच करेंगी। इसी प्रकार ग्रामीण क्षेत्र में तहसील मेजा के लिए उपजिलाधिकारी तहसील मेजा, विपणन निरीक्षक मेजा, पूर्ति निरीक्षक मेजा, सम्बन्धित मण्डी सचिव की टीम को गठित किया गया है। इसी प्रकार तहसील कोरांव, करछना, फूलपुर एवं सोरांव के लिए अलग-अलग कुल 7 टीमों का गठन किया गया है जो पूरे ग्रामीण क्षेत्र में प्याज की जमा खोरी करने वाले व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर जांच/प्रवर्तन की कार्यवाही करना सुनिश्चित करेंगे

प्रधानमंत्री बीमा योजना के अन्तर्गत फसलों की क्राप कटिंग में अनिवार्य रूप से राजस्व विभाग, विकास विभाग एवं कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा किया जा रहा निरीक्षण

तहसील के समस्त चयनित ग्रामों में फसलों की क्राॅप कटिंग की तिथि एवं काॅप कटिंग के दौरान लिये गये फोटोग्राफ को अनिवार्य रूप से जिला सूचना अधिकारी को करायेंगे उपलब्ध

मुख्य राजस्व अधिकारी प्रयागराज ने बताया है कि वर्तमान खरीफ 2019 में प्रधानमंत्री बीमा योजना के अन्तर्गत फसलों की क्राप कटिंग में अनिवार्य रूप से राजस्व विभाग, विकास विभाग एवं कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा निरीक्षण किया जाता है। इस महत्वाकांक्षी योजना के निरीक्षण के कार्य को मा0 सांसद, विधायक एवं प्रमुख सचिव के द्वारा भी संज्ञान में लिया जाता है। तहसील के समस्त चयनित ग्रामों में फसलों की क्राॅप कटिंग की तिथि एवं काॅप कटिंग के दौरान लिये गये फोटोग्राफ को अनिवार्य रूप से जिला सूचना अधिकारी को उपलब्ध करायें, जिससे इस कार्य की पारदर्शिता को सुनिश्चित किया जा सके।

Share To:

Post A Comment: