शासन की महत्वपूर्ण योजना राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी जो कि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए मजदूरों के लिए उनकी जीविकोपार्जन एवं आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए है 

कलयुग की कलम पत्रिका न्यूज़ 

 राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी शासन के द्वारा चलाई गई है लेकिन उसका दुष्प्रभाव ग्रामीणों पर अधिक पड़ रहा है क्योंकि मजदूर काम तो कर रहे हैं लेकिन शासन द्वारा मजदूरों का भुगतान नहीं हो पा रहा एक और शासन द्वारा कराई से निचले स्तर के कर्मचारियों के ऊपर दबाव बनाया जा रहा है कि यदि आपके द्वारा मजदूर नहीं लगाए जाएंगे तो आपकी पेमेंट कटेगी और संविदा कर्मचारियों की सेवा समाप्त होगी एक और शासन दबाव बना रही है की यदि ग्राम पंचायत में   मजदूरों  को काम  काम में नहीं लगाओगे तो आप लोगों को नौकरी से अलग कर दिए गए एक और मजदूरों को भुगतान नहीं किया जा रहा जिसके कारण ग्राम पंचायत में कामों में मजदूर नहीं जा रहा है क्योंकि मजदूर तो ज्यादा से ज्यादा 15 दिन रुक सकती हैं और शासन द्वारा एक माह से ज्यादा समय हो गए भुगतान नहीं किया जा रहा जिसके कारण मजदूरों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है और रोजगार गारंटी को छोड़कर अन्य प्राइवेट काम  कर रहे हैं जिसके कारण शासकीय योजना में लेबर एंगेज नहीं हो रही और यदि मास्टर 1 सप्ताह लेट हो जाते हैं तो रोजगार सहायकों की संविदा समाप्त कर दी जाती है यह कहां का कानून है यदि शासन द्वारा समय पर भुगतान नहीं किया जाता है तो मजदूर कहां से जाएंगे

Share To:

Post A Comment: