स सड़कों को गड्ढ़ामुक्त बनाने के लिए मण्डलायुक्त गंभीर, ड़कों को गड्ढ़ामुक्त बनाने के लिए मण्डलायुक्त गंभीर,

KKK  न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
         प्रयागराज
      विकास कुमार

 अधिकारियों को दिए कड़े निर्देश निर्धारित समय सीमा तक सभी सड़के  नाली निर्माण, मरम्मत और सफाई कार्य में न बरतें लापरवाही-मण्डलायुक्त, प्रयागराज चिन्हित की गई 34 सड़कों में से 19 सड़कों को किया गया गड्ढ़ामुक्त-उपाध्यक्ष,

 प्रयागराज विकास प्राधिकरण
कार्य पूरा होने पर गुणवत्ता की निष्पक्ष जांच भी कराएं-मण्डलायुक्त, प्रयागराज
25 अक्टूबर, 2019 प्रयागराज।
मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने सभी सड़कों को गड्ढ़ामुक्त किये जाने के कड़े निर्देश दिये। यद्यपि उन्होंने 34 में से 19 सड़कों को गड्ढ़ामुक्त बनाये जाने पर संतोष भी व्यक्त किया तथापि सम्बन्धित अधिकारियों को इस कार्य को गंभीरता से पूरा करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि निर्धारित समयसीमा के अंदर ही सभी सड़कों को अवश्य गड्ढ़ामुक्त बनाया जाए। इसमें शिथिलता बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रत्येक कार्य पूर्ण होने पर उसकी गुणवत्ता की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए, जिससे कार्य में किसी प्रकार की त्रुटि की संभावना न रहे।
मण्डलायुक्त ने विकास प्राधिकरण द्वारा कराये जाने वाले कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने सड़कों तथा चैराहों के चैड़ीकरण, सुदृढ़ीकरण और सौन्दर्यीकरण के लिए निर्देश देते हुए कहा कि सभी कार्य समयसीमा के अन्तर्गत व गुणवत्ता परक होना चाहिए। इसके अतिरिक्त मण्डलायुक्त ने सड़कों पर प्रकाश की व्यवस्था, नालियों की मरम्मत व निर्माण, सफाई कार्य आदि की प्रगति की गहन समीक्षा की और कहा कि शहर को स्वच्छ, सुंदर व आकर्षक बनाकर उच्च कोटि के पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाये। उन्होंने कहा कि अधिकारी पूर्ण मनोयोग से इन कार्यों को सम्पन्न कराते हुए प्रयागराज को प्रदेश का सबसे अग्रणी जनपद बनाने में अपना योगदान दें। मण्डलायुक्त ने कहा कि विशेष चैराहों पर स्मार्ट यातायात प्रबंधन हेतु डिवाइडर, फुटपाथ, स्टाप लाइन तथा जेब्रा क्रासिंग का कार्य पूर्ण कर यातायात को सुचारू और सुगम बनाया जायें। मण्डलायुक्त ने कहा कि किसी भी कार्य का स्थलीय निरीक्षण कराकर यह सुनिश्चित किया जाये कि वास्तव में कार्य आवश्यकता के अनुरूप है। सड़कों पर खुदाई का कार्य आवश्यक हो तो पहले उचित रूप से बैरीकेडिंग की जाये और कार्य समाप्त होने पर सड़क की तत्काल मरम्मत सम्बन्धित विभाग द्वारा की जाये। कूड़ा उठाने का अभियान चलाकर शहर को साफ सुथरा बनाया जाये। इसके अतिरिक्त शहर के सौंदर्यीकरण के लिए लगाए गए गमलों में मुरझाए पौधों को बदलना, उनकी उचित देखभाल करने के साथ ही पार्कों में रंगाई-पुताई रेलिंग लगाने व मरम्मत करने आदि कार्यों को भी अतिशीघ्र पूरा कराया जाए और शहर को स्मार्ट सिटी के साथ ही प्रदेश का मुख्य पर्यटक नगर बनाने का भी प्रयास किया जाये।
समीक्षा बैठक में प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष टी0के0 शिबू के साथ समस्त सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।
Share To:

Post A Comment: