जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एंटी भू माफिया के संबंध मे  बैठक 1 सप्ताह में अपनी भूमि का  ब्यौरा उपलब्ध कराएं


KKK न्यूज़ रिपोर्टर
      प्रयागराज
      सुभाष चंद्र

प्रयागराज जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एंटी भू-माफिया के सम्बन्ध में बैठक सम्पन्न

सम्बंधित विभाग एक सप्ताह में अपनी भूमि का ब्यौरा उपलब्ध कराये-जिलाधिकारी

भू-माफियाओं के खिलाफ निष्पक्ष कार्यवाही करना सुनिश्चित करें-जिलाधिकारी, प्रयागराज

रात्रि में सड़क पर कोई भी व्यक्ति सोता हुआ न मिले, सम्बन्धित अधिकारी इसका रखें ध्यान-जिलाधिकारी, प्रयागराज

कम्बल वितरण के लिए जरूरतमंद लोगो को चिन्हित कर लेने के दिये निर्देश खेतों में पराली न जलाने के लिए ग्राम पंचायतों में रोस्टर बनाकर चलायें जन जागरूकता अभियान

19 नवम्बर, 2019 प्रयागराज।

जिलाधिकारी प्रयागराज  भानुचंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में एंटी भू-माफिया के सम्बन्ध में बैठक की गयी, जिसमें मुख्य विकास अधिकारी  प्रेम रंजन सिंह, मुख्य राजस्व अधिकारी-भानुप्रताप यादव, ए0डी0एम0 वित्त-एम0के0 सिंह, ए0डी0एम प्रशासन वी0एस0 दूबे, एस0पी0 सिटी  बृजेश श्रीवास्तव, एस0पी0 क्राइम सहित समस्त उप जिलाधिकारी एवं नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारी मौजूद थे। जिलाधिकारी ने जनपद के प्रत्येक नगर पंचायतों में अवैध अतिक्रमण की जानकारी ली तथा सम्बन्धित अधिशाषी अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने नगर पंचायतों में जो भी अतिक्रमण हुए है, उस पर तत्काल कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। चेतावनी जारी करने के बाद भी यदि कोई अतिक्रमण नहीं हटाता है, तो उसे भू-माफिया घोषित किया जाय और जहां पर अतिक्रमण नहीं है, उसका सत्यापन रिपोर्ट एक सप्ताह के अंदर सम्बन्धित उपजिलाधिकारी से कराना सुनिश्चित करें। इसी क्रम में उन्होंने लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग तथा लघु सिंचाई विभाग आदि सम्बन्धित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि एक सप्ताह में अपनी सरकारी भूमि का ब्यौरा उपलब्ध कराये। यदि भूमि पर अतिक्रमण नहीं है, तो सत्यापन रिपोर्ट दे। उन्होंने स्पष्ट रूप से निर्देश दिया कि प्रयागराज विकास प्राधिकरण से बिना स्वीकृत कराये और ले-आउट पास कराये कोई भी प्लाटिंग करेगा तो वे भू-माफिया की श्रेणी में आयेगा। उन्होंने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को सत्यनिष्ठा के साथ भू-माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।  जिलाधिकारी ने सभी एस0डी0एम0 और नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारियों को निर्देशित किया कि रात्रि में भ्रमण कर यह सुनिश्चित करें कि सड़क के किनारे या खुले में कोई भी व्यक्ति सोता हुआ न मिले। जो भी व्यक्ति सड़क के किनारे सोता हुआ मिले उसे रैन बसेरे में स्थानान्तरित करें। रैन बसेरा का संचालन शुरू कर दिया गया है। रात्रि के समय सभी ए0सी0एम0 एवं नगर निगम की टीमे मिलकर रात्रि भ्रमण कर यह सुनिश्चित करें कि कोई व्यक्ति सड़क के किनारे न सोये। यदि कोई सड़क किनारे सोता हुए मिले तो उसे रैन बसेरे में स्थानान्तरित किया जाय। कम्बल का वितरण करने के लिए सभी उप जिलाधिकारियों को जरूरतमंद लोगो को चिन्हित कर लेने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से निर्देशित किया है कि खेतों में पराली किसी भी कीमत पर नहीं जलनी चाहिए। यदि कहीं पर भी पराली जलती हुई पायी गयी तो सम्बन्धित उपजिलाधिकारी जिम्मेदार होंगे। उन्होंने खेतों में पराली न जलाने के लिए ग्राम पंचायतों में रोस्टर बनाकर जन जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिये साथ ही लेखपालों को ग्राम पंचायतों में चैपाल के माध्यम से लोगो को जागरूक करने को कहा। मण्डल स्तर औद्योगिक इकाईयों/उद्यमी संगठनों से प्राप्त समस्याओं के त्वरित निराकरण के सम्बन्ध में बैठक 25 नवम्बर को उद्यमियों/औद्योगिक संगठन अपनी समस्या 21 नवम्बर तक कार्यालय को उपलब्ध करायें संयुक्त आयुक्त उद्योग, प्रयागराज मण्डल  सुधांशु तिवारी ने बताया है कि मण्डल स्तर औद्योगिक इकाईयों/उद्यमी संगठनों से प्राप्त समस्याओं के त्वरित निराकरण के सम्बन्ध में दिनांक 25 नवम्बर, 2019 को प्रातः 11ः30 बजे परिक्षेत्रीय उद्योग कार्यालय प्रयागराज, 67 लाउदर रोड, प्रयागराज में बैठक आहूत की गयी है। उद्यमियों/औद्योगिक संगठनों से अपेक्षा है कि अपनी समस्या दिनांक 21 नवम्बर, 2019 तक कार्यालय को उपलब्ध करा दें जिससे सम्बन्धित अधिकारी को वस्तुस्थिति के साथ बैठक में आमंत्रित किया जा सके।


Share To:

Post A Comment: