47वी जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान गणित और पर्यावरण प्रदर्शनी आयोजित

हरदोई, 15 नवम्बर।

आर आर इंटर कॉलेज में 47वी जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी आयोजन किया गया। जिसका शुभारम्भ जिला विद्यालय निरीक्षक वी के दुबे व प्रधानाचार्य वीरेंद्र सिंह राठौर,विज्ञान क्लब समन्वयक सतीश चंद्र,और जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ एम एल पाल ने संयुक्त रूप से फीता काटकर किया। उसके बाद मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवम दीप प्रज्वलित किया गया। बाल वैज्ञानिकों द्वारा बनाये गए मॉडलों का अवलोकन करते हुए डीआईओएस ने प्रश्न भी किये। जिनका जबाव बच्चों ने निर्भीकता पुर्वक दिया और अपने मॉडल की कार्यविधि भी बताई। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बच्चों द्वारा बनाये गए स्थिर व चलित मॉडलों की सराहना की। इस अवसर पर प्रधानाचार्य ने बाल वैज्ञानिकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि विज्ञान नित्य प्रति की आवश्यकताओं की पूर्ति करने का सबसे सशक्त माध्यम है। डॉ राजीव सिंह ने बताया कि मॉडल प्रतियोगिता का मुख्य विषय सतत विकास के लिये विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी है। प्रदर्शनी में विभिन्न विद्यालयों के बाल वैज्ञानिक एवम शिक्षको ने कार्यकारी एवम स्थिर मॉडलों का प्रदर्शन किया। प्रदर्शनी छ: विषयों यथा सतत् कृषि पद्धतियां, स्वच्छता एवं स्वास्थ्य, संसाधन प्रबंधन, औद्योगिक विकास, भारी परिवहन व संचार और शैक्षिक खेल व गणितीय प्रतिरूपण पर आधारित थी। पर्यावरण प्रदर्शनी में अध्यापक संवर्ग में शिक्षण अधिगम सामग्री आधारित प्रदर्श में विज्ञान वर्ग में पी. बी. आर. इण्टर कॉलेज के रसायन विज्ञान प्रवक्ता प्रदीप नारायण मिश्र प्रथम और गणित में आर. आर. इण्टर कालेज के डा. राजीव कुमार सिंह ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। जूनियर छात्र संवर्ग में भावी परिवहन एवं संचार में पी. बी. आर. इण्टर कॉलेज के रजनीश कुमार, आर. आर. इण्टर कॉलेज हरदोई के मृत्युञ्जय श्रीवास्तव ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। सीनियर वर्ग में संसाधन एवं प्रबंधन के साथ ही स्वच्छता एवं स्वास्थ्य में आर. आर. इण्टर कॉलेज हरदोई के छात्र विवेक गुप्ता व हिमांशू गुप्ता प्रथम स्थान पर रहे। वहीं जूनियर वर्ग में सतत कृषि पद्धति उप विषय में बृजरानी इण्टर कालेज बाँसा के छात्र विमलेश कुमार राठौर ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। इस मौके पर कौशलेंद्र प्रताप सिंह, वी के राना, सुधीर गंगवार, सुनील मंडल, सच्चिदानंद, अवधेश पाण्डेय, संजीव कुमार सिंह आदि शिक्षक मौजूद रहे।




Share To:

Post A Comment: