*चिरमिरी में महापौर ने किया 47 हितग्राहियों को पट्टा वितरण*  

           
चिरमिरी - नगर पालिक निगम चिरमिरी महापौर के. डोमरु रेड्डी द्वारा विगत दिनों हल्दीबाड़ी टैक्सी स्टैण्ड में प्रशासनिक कैम्प लगाकर चिरमिरी के अस्तित्व एवं स्थायित्व के लिए बेहद कारगर साबित होने वाले पट्टा वितरण का कार्यक्रम आयोजित कर हल्दीबाड़ी क्षेत्र के पात्र 47 नागरिकों को राजीव गांधी आश्रय योजना के तहत उनके अधिकार पत्र बाँटे। इस दौरान जनता से रूबरू होते हुए महापौर ने कहा कि चिरमिरी के जनता से किये वादा निभाने के अनुक्रम में हमने जनता के भावनाओं में खरा उतरकर हर कीमत में पट्टा दिलवाने का जो वायदा किया था आज चिरमिरी के 47 निवासियों को पट्टा प्राप्त हो चुका है जिसके लिए  महापौर ने अपने प्रयासों को याद करते हुए इस महत्वपूर्ण सफलता के लिए प्रदेश के भूपेश बघेल सरकार को आभार जताते हुए कहा कि यह हमारे शहर के लिए संजीवनी जैसा उपहार है, जिसे हमारे शहरवासी कभी भूल नहीं पाएंगे और अब हमारा यह शहर अपने स्थायित्व को पाने के वर्षों पुराने चाहत को प्राप्त कर सकेगा और अन्य शहरों की ही तरह हमारा यह कोयला उत्खनन वाला शहर अपने स्थाई बसाहट वाला शहर बन पाएगा, जिसके बाद अब हमारे यहां के लोगों की चिन्ता अब हटेगी।

चिरमिरी क्षेत्र के अस्तित्व और स्थायित्व के लिए क्षेत्र के प्रथम नागरिक के रूप में जनप्रतिनिधि बनने के पहले से ही के. डोमरु रेड्डी ने पट्टा का महाअभियान प्रारम्भ कर दिया था और अपने राजनीति संघर्ष के दौरान युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव, बाद में महासचिव एवं लोकसभा स्तरीय संगठन के समिति में उपाध्यक्ष रहते छेड़ा था। जो आज महापौर बनने के पश्चात पूरा होते दिखा। चिरमिरी महापौर रेड्डी ने चिरमिरी में 40-50 सालों से काबिज लोगों को पट्टा दिलाए जाने को लेकर सरगुजा विकास प्राधिकरण के बैठक में चिरमिरी क्षेत्र के स्थायित्व के लिए पट्टा देने की पुरजोर मांग की थी, जिसमें प्रदेश के तत्कालीन मुखिया डॉ रमन सिंह जी ने इस संवेदनशील मुद्दे को समझा और आगे प्रभावपूर्ण कदम बढ़ाते हुए समिति का गठन किया। जिस पर क्रियान्वयन होते हुए कोरिया जिला प्रशासन के द्वारा नगर पालिक निगम चिरमिरी में समय-समय पर कई बैठक ली गयी थी, जिसमे कलेक्टर द्वारा नगर पालिक निगम चिरमिरी क्षेत्र अंतर्गत नजूल भूमि पर बने आवास एवं खाली पड़े भूमि का सत्यापन कर सर्वे सूची तैयार करने के लिए प्रभारी अधिकारी, दल प्रभारी व सर्वेक्षण दल का गठन किया गया था। इसी क्रम में पट्टा मिलने से चिरमिरी क्षेत्र के स्थायित्व के दिशा में बढ़ते कदम और महापौर के दृढ़ इच्छाशक्ति से जनता से किये वादे को पूरा करने हेतु जो कृत संकल्पित होकर क्षेत्र के स्थायित्व के लिए लगातार आगे बढ़ते कदम के लिए महापौर के. डोमरु रेड्डी का क्षेत्र के पहले जनप्रतिनिधि के रूप में किया गया यह साहसिक कदम तारीफे काबिल था। कभी असम्भव से लगने वाला यह मांग आज पूरा होते हुए लोगों को सीधा लाभान्वित कर रहा है।

प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल को भी चिरमिरी महापौर ने इस संवेदनशील मुद्दे को समझते हुए प्रभावपूर्ण कदम बढ़ाने के प्रति सहृदय आभार जताया है तथा चिरमिरी महापौर ने इस बड़ी लड़ाई में सम्बल बढ़ाने में साथ खड़े रहकर हौसला बढ़ाने वाले अपने सभी सहयोगियों, शुभचिंतकों का हृदय से आभार जताया है। जिन्होंने अपने अमूल्य विचारों, सहयोग से चिरमिरी महापौर को साहस और शक्ति प्रदान होता रहा। कार्यक्रम के दौरान आयुक्त सुश्री सुमन राज, आरआई बी डी कुशवाहा, वार्ड पार्षद मंदीप गिरी, नेता प्रतिपक्ष अयाजुद्दीन सिद्दीक़ी, विधायक प्रतिनिधि शिवांश राजू जैन, महापौर परिषद के सदस्य नीलांचल रावल, विजय चक्रवर्ती, रजत दत्ता, रज्जाक खान, निगम सचिव श्याम देशपांडे एवं वरिष्ठ नागरिकों शंकर राव, राजेश्वर श्रीवास्तव, लियाकत अली, पी एस सिंह, संदीप सोनवानी, राहुल पटेल, देवनंदन राजवाड़े, बीरू, श्रीमती कौशल्या आदि की उपस्थिति में पट्टा विरतण किया गया।
 कोरिया से राजेश  सिन्हा की खास रिपोर्ट
Share To:

Post A Comment: