जिलाधिकारी ने श्रृंगवेरपुर धाम का किया निरीक्षण

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
        प्रयागराज
     विकास कुमार

मंदिर परिसर एवं घाटो पर रोजाना साफ-सफाई कराने के सम्बंधित अधिकारियों को दिए निर्देश अधूरे कार्यों को गुणवत्ता के साथ ससमय पूरा कराया जाये-जिलाधिकारी, प्रयागराज घाटो की टूटी सीढ़ियों एवं उखड़ी टाईल्स को तत्काल ठीक कराये-जिलाधिकारी

23 नवम्बर, 2019 प्रयागराज।

जिलाधिकारी प्रयागराज  भानुचंद्र गोस्वामी ने श्रृंगवेरपुर धाम का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान श्रृंगवेरपुर धाम में पर्यटन की दृष्टि से कराये जा रहे निर्माण कार्यों को देखने के साथ ही पूरे हो चुके कार्र्याें का भी जायजा लिया। उन्होंने वहां पर कराये जा रहे कार्यों का जायजा लेते हुए निर्माणाधीन कार्यों को गुणवत्ता के साथ पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने यात्री निवास के पूरे कम्पाउण्ड का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पाया कि इण्टरलाकिंग सही तरीके से नहीं करायी गयी है, कई जगह पर बैठ गयी है, जिससे बरसात में पानी भरने की सम्भावना होगी। उन्होंने उसे तुरंत सही कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने इसके उपरांत राम घाट व विद्यार्थी घाट में बनी सीढ़ियों के निरीक्षण के दौरान पाया कि कई सीढ़िया टूटी हुई थी, जिसपर नाराजगी व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने तत्काल टूटी हुई सीढ़ियों की मरम्मत कराने के निर्देश दिये। पूरे मंदिर परिसर में कराये गये यात्री सुविधाओं की व्यवस्था का जायजा लेते हुए यात्रियों के बैठने के लिए बनाये गये शरणार्थी स्थल व टाॅयलेट आदि को देखा। उन्होंने निर्माण में रह गयी खामियों को तत्काल ठीक कराने के निर्देश दिये। नालियों का निर्माण ठीक तरीके से न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए नालियों को दुरूस्त कराने के साथ ही नालियों में गंदगी पाये जाने पर वहां पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने के लिए उस क्षेत्र के वीडिओ और सेके्रटरी को रोजाना साफ-सफाई कराने के कड़ें निर्देश देते हुए सभी सम्बन्धित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की। जिलाधिकारी ने पर्यटन की दृष्टि से कराये जा रहे कार्यो का जायजा लेते हुए देखा कि कार्य अधूरे है या छूटे है, कहीं पर टाईल्स उखड़ी है, कहीं पर नाली टूटी है, नाली के ऊपर लगने वाली जाली टूटी है, इन सब कमियों को तत्काल दुरूस्त कराने के निर्देश दिये। उन्होंने निरीक्षण के दौरान देखा कि श्रृंगवेरपुर पुलिस चैकी के बगल में स्थित राजकीय होम्योपैथिक चिकित्सालय के सामने गड्ढ़ा था, इस पर जिलाधिकारी ने वीडिओ को आदेश दिया कि इस गड्ढ़े को भरने का कार्य मनरेगा के अंतर्गत तत्काल करायें। साथ ही उन्होंने श्रृंगवेरपुर धाम पर प्रस्तावित नए ब्लाक के स्थान का भी निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान पायी गयी कमियों को शीघ्र ही दूर करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गये। घाटो का कार्य भी लगभग पूरा हो गया है, शेष कार्य को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने श्रृंगवेरपुर धाम में शेष जगहों पर जो भी कार्य चल रहे है, उन सब के बारे में अधिकारियों से जानकारी लेते हुए कार्य को समयबद्ध, गुणवत्तापूर्ण रूप से शीघ्रता के साथ पूरा करने के लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। ’’शैक्षिक ऋण’’ योजनाओं के अन्तर्गत अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र/छात्राएं ऋण हेतु 15 दिसम्बर तक करें आवेदन उ0प्र0 अल्पसंख्यक वित्तीय एवं विकास निगम लि0 लखनऊ द्वारा संचालित राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास एवं वित्त निगम द्वारा पोषित ’’शैक्षिक ऋण’’ योजनाओं के अन्तर्गत प्रोफेशनल एवं जाब ओरियंटेड पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले अल्पसंख्यक समुदाय वर्ग के (मुस्लिम, सिक्ख,ईसाई,बौद्व,पारसी एवं जैन) के पात्र छात्र/छात्राओं के गरीबी रेखा के दो गुने से कम हो ऐसे छात्रों का जिनका प्रोफेशनल  पाठ्यक्रम में प्रवेश खुले मुकाबले की परीक्षा से हुआ हो कि अधिकतम रू0 20.00 लाख तक के शैक्षिक ऋण प्रतिवर्ष रू0 4.00 लाख की दर से 03 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर अधिकतम 05 वर्षो के लिए उपलब्ध कराया जायेगा तथा ऋण की वापसी 06 माह के उपरान्त अथवा नौकरी लग जाने पर जो पहले हो से 05 वर्षो में 60 मासिक समान किश्तो में की जायेगी जिसकी पात्रता  में छात्र/छात्रा उ0प्र0 का मूल निवासी होना चाहिए, छात्र की परिवारिक आय सभी स्रोतों से ग्रामीण क्षेत्र हेतु रू0 98000.00 से अधिक न हो एवं शहरी क्षेत्र हेतु रू0 120000.00से अधिक न हो। छात्र का योजना के संचालन एवं राष्ट्रीय अल्पसंख्यक विकास एवं वित्त निगम के ऋण की वापसी हेतु आधार शीडेड, बैंक खाता सं0 होना अवश्य है। आवेदक की आयु 16 से 32 वर्ष होनी चाहिए। महिला एवं शारीरिक रूप से विकलांग उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जायेगी। छात्रों का चयन पात्र उम्मीदवारों में योग्यता के आधार पर किया जायेगा। अतः उपरोक्त अर्हताएं रखने वाले इच्छुक छात्र/छात्राओं को सूचित किया जाता है कि जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी कार्यालय कक्ष सं0 50 विकास भवन, प्रयागराज से सम्पर्क स्थापित कर निर्धारित आवेदन पत्र प्राप्त कर सकते है। निर्धारित प्रारूप पर आवेदन पत्र समस्त संलग्नों सहित निगम मुख्यालय के कार्यालय कक्ष सं0 746,सातवाॅं तल जवाहर भवन अशोक मार्ग लखनऊ अथवा जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी प्रयागराज के कार्यालय में जमा करना होगा। आवेदन पत्र जमा करने की अन्तिम तिथि 15.12.2019 तक कार्यालय में शाम 5ः00 बजे तक जमा किया जा सकता है। निर्धारित तिथि के बाद प्राप्त होने वाले आवेदन पर विचार नहीं किया जायेगा। योजना से सम्बन्धित किसी जानकारी के लिए मो0 नं0  पर सम्पर्क कर सकते है। यह जानकारी अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, प्रयागराज शिव प्रकाश तिवारी ने दी है।




Share To:

Post A Comment: