चित्रकूट को देश के सर्वोत्तम पर्यटन केन्द्रों के रूप में विकसित कराया जाये मुख्य सचिव

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
       उत्तर प्रदेश
     विकास कुमार

मुख्य अभियंता एवं अधीक्षण अभियंता स्वयं आगामी एक सप्ताह में सड़कों का स्थलीय निरीक्षण कर आवश्यकतानुसार मरम्मत का कार्य गुणवत्ता के साथ कराएं: राजेन्द्र कुमार तिवारी जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों के बावजूद भी सम्बंधित विद्युत अभियंता
द्वारा रूचि लेकर विद्युत बिलों को नियमानुसार ठीक न किये जाने पर सम्बंधित विद्युत
अभियंता का स्पष्टीकरण प्राप्त कर उनके विरूद्ध नियमानुसार की जाये कार्यवाही: मुख्य सचिव

चित्रकूट में पर्यटन एवं विकास को बढ़ावा देने हेतु चित्रकूट विकास परिषद् के गठन हेतु परीक्षण कर अग्रिम कार्यवाहियाँ यथाशीघ्र करायें: राजेन्द्र कुमार तिवारी

लखनऊ: 31 अक्टूबर, 2019

 उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव  राजेन्द्र कुमार तिवारी ने निर्देश दिये हैं कि चित्रकूट को देश के सर्वोत्तम पर्यटन केन्द्रों के रूप में विकसित किये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाहियाँ प्राथमिकता से सुनिश्चित कर्राइं जायें। उन्होंने कहा कि तीर्थ यात्रियों की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए धार्मिक एवं पर्यटन क्षेत्र के सड़कों की मरम्मत का कार्य प्राथमिकता से कराया जाये। उन्होंने कहा कि सम्बंधित मुख्य अभियंता एवं अधीक्षण अभियंता स्वयं आगामी एक सप्ताह में सड़कों का स्थलीय निरीक्षण कर आवश्यकतानुसार मरम्मत का कार्य गुणवत्ता के साथ करायें। उन्होंने कतिपय प्रकरणों में बिजली के बिल में संशोधन की कार्यवाही सम्बंधित जिलाधिकारी द्वारा नियमानुसार दिये गये निर्देशों के बावजूद भी सम्बंधित विद्युत अभियंता द्वारा रूचि लेकर नियमानुसार निस्तारण न किये जाने की जानकारी मिलने पर निर्देश दिये हैं कि सम्बंधित विद्युत अभियंता का स्पष्टीकरण प्राप्त कर उनके विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि चित्रकूट के धार्मिक एवं पर्यटन सम्बंधी महत्व को दृष्टिगत रखते हुए इस क्षेत्र में ठहरने की समुचित व्यवस्था हेतु होटल स्थापित करने के लिए उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जाये।
मुख्य सचिव आज लोक भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में चित्रकूट में पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधायें उपलब्ध कराने हेतु विभागीय अधिकारियों की बैठक कर आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि पर्यटन एवं विकास को बढ़ावा देने हेतु चित्रकूट विकास बोर्ड की स्थापना कराये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाहियाँ प्राथमिकता से सुनिश्चित कराई जायें। उन्होंने चित्रकूट एवं उसके आस-पास के नगरीय क्षेत्रों एवं कस्बों को जोड़ते हुए एक नगर निगम की स्थापना पर विचार-विमर्श कर अग्रेत्तर कार्यवाही कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि चित्रकूट धार्मिक स्थल के सड़कों के किनारे इण्टर लाॅकिंग तथा ड्रेनेज का कार्य गुणवत्ता सहित एक नियत समय में पूर्ण करें। उन्होंने चित्रकूट के महत्वपूर्ण स्थानों पर बिजली के खुले तार बाहर लगाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिये हैं कि यथाशीघ्र तारों को अण्डर ग्राउण्ड कराया जाये।
 राजेन्द्र कुमार तिवारी ने पर्यटन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि चित्रकूट के आस-पास के ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थलों यथा राजापुर, लालापुर आदि का भी सौंदर्यीकरण तथा लक्ष्मण पहाड़ी को विकसित करने की कार्य योजना बनाई जाये। उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग द्वारा कराये जाने वाले कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये। उन्होंने मुख्य पर्यटन स्थलों पर श्रद्धालुओं की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए वाहनों की पार्किंग हेतु आवश्यकतानुसार व्यवस्थायें कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि चित्रकूट परिक्रमा मार्ग पर बिजली के खुले तारों को अंडरग्राउण्ड कराया जाये। उन्होंने सड़कों पर हाईलोजन लाइटों के स्थान पर एल0ई0डी0 लाईट लगाने के भी निर्देश दिये।
मुख्य सचिव ने मंदाकिनी नदी की सफाई नियमित रूप से कराने हेतु आवश्यक व्यवस्थायें कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि निर्मित रोप के नीचे हरियाली विकसित कराई जाये। उन्होंने रामघाट का विस्तार कराने के साथ-साथ चित्रकूट धार्मिक स्थल को तुलसीवन के रूप में प्राकृतिक माहौल में विकसित कराने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि भगवान लक्ष्मण जी का ओपेन म्यूजियम विकसित करने के साथ-साथ साउण्ड एण्ड लाईट-शो का क्रियान्वयन कराने के भी निर्देश दिये।
बैठक में प्रमुख सचिव पर्यटन,  जितेन्द्र कुमार, मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी चित्रकूट सहित सम्बंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।
Share To:

Post A Comment: