बहोरीबंद आईटीआई खेल मैदान लाखों की लागत से बना लेकिन अभी भी  अपूर्ण 

                                                                           बहोरीबंद मैं आईटीआई के पास बना लाखों की लागत से यह खेल मैदान किसी काम का नहीं 2008  मैं इसका निर्माण कार्य हुआ था जो आज भी अधूरा है गाँव के लोगों ने बताया कि इस मैदान में  कोई भी खेल नहीं खेला जा सकता यह अभी भी उबड़ खाबड़ है बाउंड्री भी अधूरी है जो कोटा स्टोन लगाया गया था वह धीरे-धीरे उखड़ रहा है बने हुए कमरों में किसी ठेकेदार द्वारा अवैध कब्जा है जिसमें ठेकेदार की निर्माण सामग्री रखी हुई है खिड़की टूटी हुई है दरवाजे उखड़े हुए हैं लगभग 10 वर्षों से यह खेल मैदान अपनी बाट जो रहा है ना खिलाड़ी खेलते ना ही किसी प्रकार के यह उपयोग के काम का भी नहीं है ,गांव के लोगों ने आरोप लगाया है कि शासन का लाखों रुपया बर्बाद हो रहा है ना कोई अधिकारी ध्यान देता है ना ही कोई जनप्रतिनिधि इस खेल मैदान का निर्माण कार्य पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा कराया गया था जो आज भी अधूरा है गांव के लोगों ने शीघ्र ही इस खेल मैदान को पूर्ण करने की मांग की  है जिसमें गांव के युवा जन खेल सके और गांव की प्रतिभाएं हमारे जिले प्रदेश में एवं देश में नाम कमा सकें, इसके पूर्व तत्कालिक एसडीएम धीरेंद्र सिंह जी ने खेल मैदान का निरक्षण कर पंचनामा बनाया था और अधिकारियों के पास कार्यवाही के लिए भेजा था लेकिन अभी तक किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं हुई ना ही खेल मैदान का निर्माण कार्य हो रहा है बहोरीबंद आईटीआई का खेल मैदान का जो अधूरा काम हुआ है उसे पूर्ण करने की मांग क्षेत्रीय जनों में मुख्य रूप से नरेंद्र सैनी, वीरेंद्र गुप्ता,अजय गर्ग, दिनेश गुप्ता,अखिलेश वर्मा ,गोविंद पटेल ,श्याम सुंदर सैनी, राकेश पटैल , पप्पू दुबे, राजा महाराज, पप्पू मिश्रा, राजेश रजक,रामनारेश यादव,सन्दीप बाजपेयी,अमर सिंह,रामकुमार पटेल, उम्मेद पटेल, विनोद बर्मन, संगम गुप्ता ,गुड्डू नायक ,मोंटी पान्डे, महेंद्र महतों ,दीपक गुप्ता, बीरू सैन एवं  ग्राम के समस्त नागरिकों ने की है। 

राजेश रजक संवाददाता कलयुग की कलम बहोरीबंद कटनी





Share To:

Post A Comment: