आलमारियों में लटका है ताला,वतर्मान शाला प्रभारी के पास है नहीं है प्रभार,प्रभावित होते हैं शैक्षणिक कार्य

कलयुग की कलम (अंकित झारिया)

उमरियापान:- शिक्षिका का तबादला होने के  तीन माह बीत गए हैं। शिक्षिका द्वारा स्कूल के दूसरे शिक्षक को प्रभार सौंपा न तो अलमारियों की चाबी दिया। स्कूल की अलमारियों में ताला लगा है। जिससे शैक्षणिक संबंधी कार्यों को करने में अब दूसरी शिक्षिका को परेशानी का सामना करना पड़ता है। मामला ढीमरखेड़ा के शासकीय माध्यमिक शाला धनवाही का है। उक्त शिक्षिका की शिकायत संकुल प्राचार्य,बीआरसी, बीईओ और जिले के अधिकारियों के पास भी पहुँच चुकी हैं। लेकिन विकासखण्ड और जिले के अधिकारी शिक्षिका से प्रभार दिला सके न तो स्कूल में रखी अलमारियों का ताला खुलवा सके।न ही पूर्व शाला प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की गई। 

हासिल जानकारी के मुताबिक ढीमरखेड़ा विकासखण्ड के शासकीय कन्या शाला उमरियापान संकुल केंद्र अंतर्गत आने वाली शासकीय माध्यमिक शाला धनवाही में पदस्थ प्रभारी प्रधानाध्यापिका संध्या तिवारी का तबादला बीते अगस्त के महीने में जबलपुर जिले में हो गया है। 23 अगस्त को शिक्षिका ने संकुल में कार्यमुक्त होने का आवेदन देकर यहाँ से जा चुकी हैं। शिक्षिका को कार्यमुक्त हुए तीन महीने का समय बीत चुका है। अब प्रभारी के तौर पर शाला की अध्यापक भावना द्विवेदी है। लेकिन आज तक पूर्व प्रभारी संध्या तिवारी द्वारा वर्तमान प्रभारी भावना द्विवेदी को प्रभार नहीं दिया है। स्कूल में रखी तीन अलमारी और एक पेटी में भी ताला लटका हुआ है। जिसकी चाबी मांगे जाने पर भी संध्या तिवारी द्वारा नही दी जा रही हैं। वतर्मान प्रभारी के पास बालिकान और शिक्षकान रजिस्टर के अलावा अन्य कोई भी दस्तावेज नहीं है। सभी दस्तावेज अलमारियों के भीतर रखें हुए हैं। बच्चों के दाखिले, अंकसूची जैसे अन्य कामकाज के लिए पालकों को परेशान होना पड़ता है।

शुरू से विवादित रही संध्या:- पूर्व शाला प्रभारी संध्या तिवारी पहले से विवादित होने के चलते सुर्खियों में बनी रहती हैं। इनके पति आशीष तिवारी भी जबलपुर के प्राथमिक शाला खागामउ में पदस्थ है। इनके द्वारा भी धनवाही स्कूल के शैक्षणिक कार्यों में हस्तक्षेप किया जाता था।तनाव का माहौल निर्मित किया जाता था।शिक्षिका द्वारा उच्च अधिकारियों को दस्तावेज भी नहीं दिए जाते हैं। शिकायत होने के बाद जिला पंचायत सीईओ ने 19 मई 2019 को शोकॉज जारी किया था।शोकॉज का जबाब भी शिक्षिका द्वारा नहीं दिया गया।

इनका कहना है:- 

पूर्व प्रभारी संध्या तिवारी का तबादला हो गया है।शिक्षिका ने प्रभार के अलावा अलमारियों की चाबियां भी नहीं दिया गया है।इसके लिए पत्राचार कर वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी गई है।शिक्षिका की एलपीसी रोकी गई है। अनियमितता के चलते पूर्व में भी दो माह का वेतन रोका गया है।:- कमलेश साहू, संकुल प्राचार्या

कुछ व्यस्तता के चलते स्कूल का प्रभार नहीं दे पाई हूँ। 4- 5 बार धनवाही जा भी चुकी हूँ, लेकिन जिस शिक्षिका को प्रभार लेना है,वह नहीं मिलते हैं। सभी प्रकार के दस्तावेज कंप्लीट करके जल्द ही पूरा प्रभार दूंगी।:- संध्या तिवारी,पूर्व शाला प्रभारी मा शाला धनवाही

संकुल प्राचार्य ने पूर्व शाला प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई किया है। स्कूल में जाकर पंचनामा कार्रवाई करते हुए ताला खुलवाने बोला गया है। :- विजय चतुर्वेदी,बीआरसी ढीमरखेड़ा

कल संकुल प्राचार्य को आदेश जारी किया  है।संकुल प्राचार्य द्वारा वतर्मान शिक्षिका को प्रभार दिलाने की कार्रवाई की जाएगी। :- आरएस बघेल,बीईओ ढीमरखेड़ा


Share To:

Post A Comment: