संविधान दिवस पर मंडलायुक्त ने लिया शपथ

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
        प्रयागराज
     विकास कुमार

संविधान दिवस के अवसर पर मण्डलायुक्त प्रयागराज ने संविधान में निहित मूल कर्तव्यों के पालन की शपथ ली

भारत के संविधान को अंगीकृत और आत्यार्पित करने का लिया संकल्प एकता और अखण्डता के लिए रहना होगा सतत प्रयत्नशील-मण्डलायुक्त, प्रयागराज

26 नवम्बर, 2019 प्रयागराज।

संविधान दिवस के अवसर पर मण्डलायुक्त प्रयागराज डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने आज गांधी सभागार में समस्त अधिकारियों/कर्मचारियों के साथ भारत के संविधान में दिए गए मूल कर्तव्यों का पालन सत्यनिष्ठा के साथ करने की शपथ ली। इस अवसर पर मण्डलायुक्त के साथ सभी अधिकारी/कर्मचारियों ने देश की सम्प्रभुता, अखण्डता की रक्षा करने तथा संवैधानिक आदर्शो, संस्थाओं, राष्ट्रध्वज व राष्ट्रीय प्रतीकों का आदर करने की प्रतिज्ञा की।

मण्डलायुक्त ने उपस्थित सभी अधिकारियों/कर्मचारियों का आह्वाहन किया कि हम सभी को दृढ़ संकल्पित होकर भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न समाजवादी पंथनिरपेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए सतत प्रयासरत रहना चाहिए और साथ ही राष्ट्र की एकता और अखण्डता बढ़ाने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए सभी लोगों में आपसी प्रेम व सौहार्द का संचार करना होगा। उन्होंने सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्यार्पित करने का संकल्प भी किया  जिलाधिकारी ने संविधान दिवस के अवसर अधिकारियों/कर्मचारियों को संविधान में दिए गए मूल कर्तव्यों के पालन करने की शपथ दिलायी जिलाधिकारी प्रयागराज  भानुचंद्र गोस्वामी ने संविधान दिवस के अवसर संगम सभागार में उपस्थित अधिकारियों/कर्मचारियों को संविधान में दिए गए मूल कर्तव्यों के पालन करने की शपथ दिलायी। संवैधानिक आदर्शों, संस्थाओं, राष्ट्रध्वज व राष्ट्रीय प्रतीकों का आदर करेंगे। देश की संप्रभुता अखण्डता की रक्षा करेंगे। महिलाओं का सम्मान करेंगे। हिंसा से दूर रहकर बंधुता बढ़ाएंगे। सामाजिक संस्कृति का संवर्द्धन व पर्यावरण का संरक्षण करेंगे। वैज्ञानिक दृष्टिकोण का विकास करेंगे। सार्वजनिक सम्पत्ति की रक्षा करेंगे। व्यक्तिगत व सामूहिक गतिविधि में उत्कृष्टता बढ़ाएंगे। सबको शिक्षा के अवसर प्रदान करेंगे एवं स्वतंत्रता के आदर्शो को बढ़ावा देंगे। राष्ट्रीय जल पुरस्कार-2019 के लिए 30 नवम्बर तक करें आवेदन अपर जिला मजिस्ट्रेट (नगर), प्रयागराज अशोक कुमार कनौजिया ने बताया है भारत सरकार के जलशक्ति मंत्रालय के जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण विभाग ने देश में जल संरक्षण और पानी के उचित प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए द्वितीय राष्ट्रीय जल पुरस्कार-2019 के लिए आवेदन मांगे गये है, जिसके अन्तर्गत आवेदन पत्र जमा करने की अन्तिम तिथि दिनांक 30 नवम्बर, 2019 निर्धारित है। राष्ट्रीय जल पुरस्कार विभिन्न श्रेणियों में प्रदान किए जायेंगे, जिनमें सर्वश्रेष्ठ राज्य, सर्वश्रेष्ठ जिला, सर्वश्रेष्ठ ग्राम पंचायत, सर्वश्रेष्ठ शहरी स्थानीय निकाय, जल संरक्षण के लिए सर्वश्रेष्ठ अनुसंधान/नवाचार/नई तकनीक का अनुकूलन, सर्वश्रेष्ठ शिक्षा/जन जागरूकता के प्रयास, जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए सर्वश्रेष्ठ टीवी शो, सर्वश्रेष्ठ समाचार पत्र, सर्वश्रेष्ठ विद्यालय, सफल परिसर उपयोग के लिए सर्वश्रेष्ठ संस्थान/निवासी कल्याण संघ, सर्वश्रेष्ठ उद्योग, सर्वश्रेष्ठ जल नियामक प्राधिकरण, जल योद्धा पुरस्कार, जल संरक्षण के लिए सर्वश्रेष्ठ एनजीओ, सर्वश्रेष्ठ जल उपयोगकर्ता संघ, जल संरक्षण में सीएसआर गतिविधियों के लिए सर्वश्रेष्ठ उद्योग है। राष्ट्रीय जल पुरस्कार 2019 के लिए दिशा-निर्देशों के साथ आवेदन पत्र वेबसाइ पर उपलब्ध  है। सभी श्रेणी के आवेदन  MyGov मंच के माध्यम से   भेजे जा सकते हैं या केन्द्रीय भूमि जल बोर्ड  पर ईमेल कर सके है।



Share To:

Post A Comment: