जिर्री,बरहटा के सचिवों ,लेखपाल बाबू और उपयंत्री के खिलाफ होगी निलंबन की कार्रवाई 

  जिला सीईओ ने जनपद सीईओ ने मंगाई जांच रिपोर्ट 

कलयुग की कलम (अंकित झारिया- रिपोर्टर)

उमरियापान:- स्व कराधान प्रोत्साहन योजना में गड़बड़ी करने वाले जिर्री और बरहटा ग्राम पंचायत के सचिवों व आगनवाड़ी में बनने वाले बाल शौचालयों की राशि देने में बरती गई लापरवाही पर लेखपाल जम्मन सिंह राजपूत के खिलाफ  निलंबित की कार्रवाई की जाएंगी।इसके लिए जनपद सीईओ दस्तावेजों का परीक्षण कर पूरी जांच रिपोर्ट कल ही मुझे भेज दे। उक्त निर्देश जिला पंचायत सीईओ जगदीश चंद्र गोमे ने मंगलवार को ढीमरखेड़ा जनपद में आयोजित बैठक के दौरान जनपद सीईओ केके पांडेय को दिया है। बैठक में जिला सीईओ ने सख्त लहजे में कहा कि स्व कराधान योजना में शामिल सचिवों के निलंबन के बाद सचिवों और सरपंचों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी। लापरवाही बरतने पर उपयंत्री ओमप्रकाश गुप्ता पर भी निलंबन की कार्रवाई होगी। इतना नही जिला सीईओ ने कहा कि जो लोग नही आये हैं और जिन ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों के निर्माण में लापरवाही बरती गई है। बिना किसी कार्य के राशि निकाली गई है।उनमें शामिल सभी कर्मचारियों को भी नहीं बख्शा जाएगा।सभी के खिलाफ कार्रवाई होंगी।

लाखों का है घोटाला:-  ढीमरखेड़ा मुख्य कार्यपालन अधिकारी के के पांडेय ने बताया कि ग्राम पंचायत जिर्री के सचिव- सरपंच ने बगैर कार्य कराए 34 लाख 56 हजार रुपये की राशि निकाली है। वहीं ग्राम पंचायत बरहटा के सचिव-सरपंच ने भी 33 लाख 89 हजार रुपये राशि बिना किसी निर्माण कार्य कराए बगैर फर्जी तरीके से आहरित किये हैं। जिसकी जांच जारी है।कार्रवाई करने जिला सीईओ ने इसकी रिपोर्ट मांगी है।

इनका कहना है:-  जिर्री,बरहटा के सचिवों के द्वारा निर्माण कार्यों में गड़बड़ी करने पर सचिवों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाएगी।सरपंच- सचिव की एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी। बाल शौचालय की राशि वितरण में लापरवाही बरतने पर बाबू के खिलाफ करवाई की जाएगी। जनपद सीईओ से जांच के दस्तावेज मांगा है। पंचाययों के विकास कार्यों में गड़बड़ी करने वाले किसी भी दोषी को नहीं बख्शा जाएगा।:- जगदीश गोमे ,मुख्य कार्यपालन अधिकारी,जिला पंचायत कटनी


Share To:

Post A Comment: