बस स्टैंड मैं पेयजल की व्यवस्था हेतु बदहाल पानी की टंकी मैं बिलबिला रहे है कीड़े।

खानपान की दुकानों मैं परोषा जा रहा है दूषित पानी।।

दूषितं पानी के साथ खानपान सामग्री मैं इस्तेमाल होता है यह दूषित पानी।।

कैमोर:-पेट्रोल पम्प बस स्टैंड मैं जलापूर्ति करने हेतु टंकियों की व्यवस्था तो है लेकिन टंकी की बदहाल स्थिति मे नगर परिषद अधिकारी साफ सफाई की तरफ सुध लेना भी मुनाजिव नही समझते।जबकि इन टंकियों मैं पानी का उपयोग अधिकतर खानपान की दुकानों नास्ता एभं भोजन इत्यादि सामग्री एभं बस स्टेंड मैं यात्रियों के लिये पेयजल के रूप मे उपयोग होता है।।किंतु नगर परिषद की लापरवाही का हाल देखिये।।कैमोर के मुख्य बस स्टैंड मैं पेयजलापूर्ति स्थित बदहाल पानी की टंकी की विगत माह से साफ सफाई न होने के कारण इन दिनों विषैले कीड़ो के साथ लार्वा निकलते दिखाई दे रहे है।।पेयजल की किल्लत से निजात हेतु पानी की टंकियों का निर्माण तो कराया जाता है।लेकिन साफ सफाई की ओर कोई ध्यान नही दिया जा जाता है।जबकि पेट्रोल पंप बस स्टैंड मैं प्रतिदिन सेकड़ो की जनसंख्या मैं यात्रियों का आवागमन बना रहता है साथ स्कूल व कॉलेज होने की वजह से छात्र छात्राओं आवागमन इसी बस स्टैंड के द्वारा होता है। स्वल्पाहार की दुकाने है।जहां इन दुकानों मैं इसी टंकी का पानी उपयोग दुकान संचालक ग्राहक को पेयजल के रूप मे परोश्ते है ।स्वल्पाहार सामग्री बनाने मे इसी जल को उपयोग मैं लाया जाता है इन होटलो मै स्थानीय लोगो के साथ साथ स्कूली बच्चो का आगमन अधिकतर होता है।इस तरह दूषित पानी पीने से अनेक प्रकार की बीमार उत्पन्न हो रही है।।वही अगर हम स्वछता की बात करे तो टंकी के इर्द गिर्द गंदगी का अंबार लगा रहता है।।

मोहित सोनी पत्रकार कैमोर





Share To:

Post A Comment: