आंधी तूफान से टूटे टेंट में पानी और ओले के बीच ठिठुरते रहे अनशनकारी अन्नदाता

• पांचवें दिन अनशनकारियों की सुध लेने नहीं पहुंचे शासन प्रशासन के लोग

• पूर्व विधानसभा प्रत्याशी कांग्रेस नेता जितेन्द्र मिश्रा ने अनशनकारियों से मिलकर दिया आश्वासन,कलेक्टर व डीआरएम से की फोन पर बात

रीवा, रेलवे बोर्ड के खिलाफ युवा एकता परिषद किसान इकाई के बैनर तले अनशन पर अन्नदाता बैठे रहे| रात भर टूटे हुए टेंट के नीचे तूफान बारिश और ओले के बीच अपने हक की लड़ाई के लिए अनशन स्थल पर अनशनकारी डटे रहे| लेकिन फिर भी इस भीषण ठंड में जान की बाजी लगाए बैठे किसानों की खबर लेने शासन प्रशासन के लोग नहीं पहुंचे जिससे किसानों में सरकार के प्रति काफी आक्रोशित व्याप्त है| किसान अब आगे और उग्र आंदोलन करने की तैयारी में है| अनशनकारियों की खबर सुनते ही कांग्रेस नेता एवं पूर्व विधानसभा प्रत्याशी जितेन्द्र मिश्रा सुबह होते ही किसानों के बीच पहुंचकर किसानों के हक के लिए अंतिम तक लड़ाई लड़ने का आश्वासन दिया तथा अनशन स्थल से रीवा कलेक्टर तथा रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों को किसानों की मांग को रेलवे बोर्ड तक पहुंचाने का आग्रह किया|  आज के क्रमिक अनशन में बैठे  विष्णु साकेत एवं राम सजीवन लोनिया के साथ सुग्रीव सिंह, विकास अग्निहोत्री,ज्ञानेंद्र सिंह अजय त्रिपाठी,नीरज त्रिपाठी, कमलेश पांडे,अनीश शुक्ल,पुष्पेंद्र सेन,नीलेश त्रिपाठी,केएन मिश्रा, नितिन शर्मा,आशीष पांडे,पुष्पेंद्र अग्निहोत्री,अभिषेक अग्निहोत्री  समेत सैकड़ो किसानों ने सरकार के प्रति काफी आक्रोश जताया|


Share To:

Post A Comment: