यातायात व्यवस्था स्पीड लिमिट  का निर्धारण बोर्ड लगाया जाए मंडलायुक्त

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
        प्रयागराज
      विकास कुमार

मण्डलायुक्त ने शहर की यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करने हेतु बैठक की

स्पीड लिमिट का निर्धारण कर सड़कोें पर लगाये जाएं संबंधित बोर्ड-मण्डलायुक्त, प्रयागराज
मानक से अधिक आवाज वाले डीजे के साथ ही संबंधित बारातघर पर भी की जाएगी कार्रवाई
स्कूल प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर जाम की समस्या का उचित हल निकाला जाए-मण्डलायुक्त
14 दिसम्बर, 2019 प्रयागराज।
मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने त्रिवेणी सभागार में शहर की यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करने हेतु बैठक की। बैठक में जिलाधिकारी प्रयागराज भानुचंद्र गोस्वामी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक-सत्यार्थ अनिरूद्ध पंकज, प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष- टी0के0 शिबू, नगर आयुक्त-रवि रंजन सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।
मण्डलायुक्त ने सड़कों पर लगने वाले जाम से मुक्ति के उपायों पर गहन मंथन किया और ओवर स्पीडिंग वाली सड़कों को चिन्हित करने, स्कूलों के पास जाम लगने, बारात घरों के पास जाम लगने आदि पिन प्वाइंट्स पर विचारोपरांत निर्देशित किया कि आवश्यकतानुसार स्पीड लिमिट निर्धारित करते हुए सड़कों पर उक्त आशय के बोर्ड लगाये जायें और पालन न करने वालों पर नियमानुसार कार्रवाई की जाय। बारातघरों को नोटिस जारी कर वहां आने वाले वाहनों को सुव्यवस्थित करने हेतु समुचित स्टाफ तैनात करने हेतु निर्देशित किया जाय तथा अनुपालन सुनिश्चित न करने पर यथोचित कार्रवाई की जाए। उन्होंने सिविल लाइन में साइड लेन में पार्किंग डेवलप करने हेतु अधिकारियों को निर्देशित किया साथ ही सड़कों पर नियम के विपरीत खड़े किए जा रहे वाहनों पर नियमानुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए। मण्डलायुक्त ने कहा कि इस बात का ध्यान रखा जाए कि यदि कहीं भी डीजे आदि का उपयोग किया जाता है तो वह कोर्ट के आदेशों के अनुरूप नियमानुसार ही होना चाहिए। मानक से अधिक आवाज वाले डीजे के साथ संबंधित बारातघर पर भी कार्रवाई की जाएगी।
मण्डलायुक्त ने कहा कि यातायात व्यवस्था को सुगम और सुदृढ़ बनाने हेतु प्रयागवासियों को भी अपना सहयोग देकर उदाहरण प्रस्तुत करना चाहिए। उन्होंने नाॅजरेथ अस्तपाल और पार्वती अस्पताल का उदाहरण देते हुए बताया कि उन्होंने अपने संस्थान में आने वाले वाहनों की पार्किंग की उचित व्यवस्था करते हुए अन्य प्रतिष्ठानों के लिए मिसाल पेश की है। इसी तरह स्कूलों सहित अन्य संस्थानों को भी अपने प्रयासों द्वारा समाज के लिए उदाहरण प्रस्तुत करना चाहिए। मण्डलायुक्त ने कहा कि स्कूलों की छुट्टी के समय लगने वाले जाम से निपटने के लिए अधिकारियों द्वारा स्कूल प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर उन्हें प्रेरित किया जाए और इस समस्या का उचित हल निकाला जाए। स्कूल प्रशासन स्टाफ लगाकर वाहनों का आवागमन तथा बच्चों के स्कूल से निकलने के क्रम को व्यवस्थित करें तथा किसी भी स्थिति में स्कूलों के सामने जाम न लगने दे।


Share To:

Post A Comment: