खजाने के लालच में खोद डाली भीमा नायक की गढ़ी

मध्यप्रदेश बड़वानी .1857 से 1867 तक दस साल अंग्रेजों सेे लड़ने वाले भीमा नायक की गढ़ी को लोगों ने खजाने के लालच में खोद डाला है। गढ़ी जिला मुख्यालय से 11 किमी दूर धाबाबावड़ी स्थित 800 मीटर ऊंची पहाड़ी पर बनी है, जहां भीमा नायक रहते थे। इसे सहेजने की बजाय लोगों ने खोखला कर दिया। गढ़ी के भीतर खजाने के चक्कर में कई जगह खुदाई की गई। शहीद भीमा नायक की 143वीं पुण्य तिथि के अवसर पर भास्कर टीम ने गढ़ी में जाकर देखा तो जगह-जगह खुदाई की गई थी। भीमा नायक को लेकर शोध करने वाले पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एसएन यादव नेे भी बताया कि खजाने के चक्कर में गढ़ी सहित आसपास खुदाई की जा रही है।

Share To:

Post A Comment: