पटना. फोर्ब्स मैग्जीन की टॉप 20 प्रभावशाली लोगों की सूची में इस बार दो बिहारियों ने भी जगह बनाई है. इन दोनों का ही राजनीति से संबंध में और पिछले कुछ दिनों में ये चेहरे देश के सियासी गलियारों में चर्चा का विषय भी रहे हैं. ये हैं जदयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) और जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar). फोर्ब्स के अनुसार आने वाले दशक में ये दोनों ही भारतीय राजनीति में निर्णायक चेहरे हो सकते हैं.

फोर्ब्स ने प्रभावशाली लोगों की इस सूची में कन्हैया कुमार को 12वें जबकि प्रशांत किशोर को 16वें स्थान पर रखा है. इन दोनों के अलावा मैग्जीन ने 5 अन्य भारतीय मूल के लोगों को भी सूची में शामिल किया है. राजनीतिक ह‌िस्तियों पर यदि नजर डाली जाए तो कन्हैया और प्रशांत किशोर के अलावा इसमें श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे, सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान, न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न, पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारिन और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का नाम शामिल है.

फोर्ब्स ने कन्हैया कुमार के बारे में कहा है कि वे जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्र राजनीति का चेहरा उस समय बने जब 2016 में उन्होंने देशद्रोह के आरोपों का मजबूती से जवाब दिया. कन्हैया ने जेएनयू से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की है. बिहार के बेगूसराय लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से 2019 मे कन्हैया ने पहली राजनीतिक लड़ाई लड़ी थी लेकिन वो भाजपा के गिरिराज सिंह से 4 लाख 20 हजार वोटों से हार गए. हालांकि वे कुल मतों का 22.03 प्रतिशत हासिल करने में सफल रहे थे.

Share To:

Post A Comment: