मंत्रियों की नकली सील से जारी किए 200 कर्मचारियों के तबादला आदेश, कैदियों की रिहाई के फर्जी आदेश भी बनाए

खुद को कभी सीबीआई एसपी कभी महाराष्ट्र विधान परिषद का नेता प्रतिपक्ष बताता था

घर से मिले आधा दर्जन वॉकी टॉकी, स्कैनर पिस्टल, 20 सील, सैकड़ों फर्जी नियुक्ति-पत्र

खंडवा.खुद को कभी सीबीआई एसपी, कभी मंत्रालय का सचिव तो कभी महाराष्ट्र विधान परिषद का नेता प्रतिपक्ष बताने वाले अनिरुद्ध मोतेकर (30) ने गृह मंत्री बाला बच्चन, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट तथा वन मंत्री उमंग सिंघार सहित विभिन्न विभागों के प्रमुख सचिवों की नकली सील और दस्तावेज तैयार कर खंडवा, बुरहानपुर, मंदसौर सहित विभिन्न शहरों के 200 से ज्यादा कर्मचारियों के फर्जी तबादला व नियुक्ति आदेश जारी कर दिए। इसके बदले लाखों रुपए ऐंठे। आरोपी ने खंडवा व बुरहानपुर के सीजेएम की नकली सील बनाकर सजायाफ्ता कैदियों के रिहाई आदेश भी जारी किए हैं।

आरोपी को गुरुवार रात पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गुरुवार को एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह को तूफान सिंह निवासी मंदसौर, रामेश्वर निवासी सुरगांव जोशी ने शिकायत की थी कि अनिरुद्ध मोतेकर ने उन्हें भूमि नामांतरण तथा वन क्षेत्र में वाहन परिवहन के नाम पर फर्जी आदेश जारी किए। पुलिस टीम अनिरुद्ध के घर पहुंची। आरोपी की लाइफ स्टाइल देख पुलिस अधिकारी भी सोच में पड़ गए। आरोपी के कैबिन तक जाने के लिए स्कैनर मशीन, आई स्कैनर, फिंगर प्रिंट की प्रक्रिया कराने के बाद ही मिलने की अनुमति मिलती थी। पुलिस ने उसके घर से दो बोरे दस्तावेज, आधा दर्जन वॉकी टॉकी, पिस्टल, दो लैपटॉप, स्कैनर मशीन, 20 फर्जी सील व सैकड़ों फर्जी नियुक्ति-पत्र जब्त किए हैं।

फर्जी तबादला व पदस्थापना पर कहीं कोई नौकरी तो नहीं कर रहा, इसकी जांच शुरू की है। यह भी जांच हो रही है कि आरोपी ने फर्जी आदेश से बरगलाकर किसी ऑफिस में काम तो नहीं निकलवा लिया।' -डॉ. शिवदयाल, एसपी

Share To:

Post A Comment: