कैरेट के हिसाब से तय होती है सोने की कीमत, 24 कैरेट सोने के नहीं बनते आभूषण

भारतीय बाजार में सोने के दाम 41 हजार रुपए प्रति 10 ग्राम को भी पास कर गया है। ऐसे में अगर आप इतना पैसा खर्च करके सोना खरीदें और वो उतना शुद्ध न हो जितने के आपने पैसे चुकाएं हैं तो क्‍या आप बर्दाश्‍त कर पाएंगे। शायद नहीं! हालांकि असली सोने की पहचान करना आसान नहीं होता, लेकिन कुछ सावधानियां बरत कर आप गलत चीज खरीदने से बच सकते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि सोना खरीदते समय किन बातों का ध्‍यान रखें।

सोना खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान हॉलमार्क देखकर खरीदें सोना हम आपको बताएंगे कि आपका सोना कितना शुद्ध है। सोना खरीदते वक्त उसकी क्वॉलिटी पर जरूर गौर करें। सबसे अच्छा है कि हॉलमार्क देखकर सोना खरीदें। हॉलमार्क सरकारी गारंटी है। हॉलमार्क का निर्धारण भारत की एकमात्र एजेंसी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) करती है। हॉलमार्किंग योजना भारतीय मानक ब्यूरो अधिनियम के तहत संचालन, नियम और विनियम का काम करती है।24 कैरेट गोल्ड की नहीं बनती ज्वैलरी 24 कैरेट सोने को सबसे शुद्ध सोना माना गया है, लेकिन इसके अभूषण नहीं बनते, क्‍योंकि वो बेहद मुलायम होता है। आम तौर पर आभूषणों के लिए 22 कैरेट सोने का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें 91.66 फीसदी सोना होता है। सभी कैरेट का हॉलमार्क अंक अलग होता। मसलन 24 कैरेट पर 999, 23 कैरेट सोने पर 958, 22 कैरेट पर 916, 21 कैरेट पर 875 और 18 पर 750 लिखा होता है। इससे शुद्धता में शक नहीं रहता। ऐसे समझिए कैसे तय कर सकते हैं अपने गोल्ड की कीमत कैरेट गोल्ड का मतलब होता हे 1/24 पर्सेंट गोल्ड, यदि आपके आभूषण 22 कैरेट के हैं तो 22 को 24 से भाग देकर उसे 100 से गुणा करें। (22/24)x100= 91.66 यानी आपके आभूषण में इस्‍तेमाल सोने की शुद्धता 91.66 फीसदी। मसलन 24 कैरेट सोने का रेट 41000 है और बाजार में इसे खरीदने जाते हैं तो 22 कैरेट सोने का दाम (41000/24)x22=37583 रुपए होगा। ऐसे ही 18 कैरेट गोल्ड की कीमत भी तय होगी। (41000/24)x18=30750 जबकि ये ही सोना ऑफर के साथ देकर ज्वैलर आपको छलते हैं। कितने कैरेट सोना रहता है कितना शुद्ध कैरेट शुद्धता (प्रतिशत में) 24 99.9

23 95.8
22 91.6
21 87.5
18 75.0
17 70.8
14 58.5
Share To:

Post A Comment: