मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के भाषण में भाजपा शासन का कड़वा सच सुनकर भाजपा सांसद और विधायक समारोह से भागे”

“भाजपा सांसद शंकर लालवानी और विधायक को सच सुनने की आदत नहीं “

“सांसद शंकर लालवानी मुख्यमंत्री को पत्र लिखने के बजाय पीएम को पत्र लिखे जो भाषणों से देश में भ्रम फैलाते हैं”

म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी के प्रदेशसचिव राकेश सिंह यादव ने सांसद शंकर लालवानी को सलाह दी हैं की भाजपा की राजनैतिक ट्रेनिंग में सच सुनना सीखाया ही नहीं जाता हैं इसलिए माननीय मुख्यमंत्री ने गणतंत्र दिवस के संबोधन में भाजपा का काला सच उजागर किया तो सांसद शंकर लालवानी समारोह से भाग खड़े हुए।अगर ये सच नहीं था तो सांसद को मुख्यमंत्री की बात का तथ्यात्मक विरोध वही करना था लेकिन सांसद जानते हैं की शिवराज सरकार ने सारा ख़ज़ाना लूट लिया हैं इसलिए सांसद लालवानी दबे पाँव भाग खड़े हुए।मुख्यमंत्री के आरोपों का जवाब नहीं था।क्योंकि यही सच हैं की भाजपा ने म.प्र. के ख़ज़ाने को लूटा हैं।इसके बाद भी मुख्यमंत्री कमलनाथ जीते नेतृत्व में विकास कार्य जारी हैं।इससे भाजपा हतप्रभ हैं।

मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर सस्ती लोकप्रियता पाने के बजाय सांसद खुद के कार्यकाल पर नज़र डालें तो सांसद शंकर लालवानी की निष्क्रियता के कारण इन्दौर के ढाई करोड़ रूपये बिना खर्च के वापस हो रहे हैं।सांसद की निष्क्रियता से सांसद निधि का उपयोग ही नहीं हुआ हैं।अब ऐसे निष्क्रिय सांसद मुख्यमंत्री को सलाह दे रहे हैं ये हास्यास्पद हैं।

देश के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री लगातार देश को अनेक मामले में भ्रमित कर रहे हैं।प्रधानमंत्री ने लालक़िले से अनेक झुठे वादे किये।सांसद को अपने पीएम को सलाह एंव नसीहत देकर पत्र लिख कर पूछना चाहिए की “अच्छे दिन कब आयेगे” एंव 15 लाख कब आयेगे”एंव नोटबंदी से देश को क्या मिला तथा देश की विकास दर बर्बाद क्यों हो गई ।सांसद में हिम्मत हैं तो ये सवाल भाजपा के पीएम से पूछकर दिखाये अन्यथा स्तरहीन राजनीति न करे इससे इन्दौर को कुछ हासिल नहीं होगा।प्रदेश की कमलनाथ सरकार लगातार प्रदेशहित में तेज़ी से कार्य कर रही हैं इससे प्रेरणा लेकर सांसद को भी धरातल पर आकर कार्य करना चाहिए 1980 को दशक की पत्र लिखकर राजनीति करने से इन्दौर का भला नहीं हो सकेगा।ये इन्टरनेट का जमाना है लेकिन सांसद महोदय अपनी सांसद निधि का जनता के हित में उपयोग तो कर नहीं पाये सिर्फ़ चिट्ठी-पत्री लिखकर समय व्यतीत कर रहे हैं।यह बेहद निंदनीय हैं।


राकेश सिंह यादव
प्रदेशसचिव
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी
भोपाल
Share To:

Post A Comment: