भारतीय नौसेना ने खाड़ी क्षेत्र में युद्धपोत और विमानों की तैनाती की है। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि नौसेना ने यह फैसला भारत के सामुद्रिकव्यापार की सुरक्षा और अमेरिका-ईरान के बीच बढ़ते तनाव के मद्देनजर किसी भी आकस्मिक स्थिति का सामना करने के लिए लिया है। ईरान ने बुधवार को इराक में दो अमेरिकी सैन्य अड्डों पर हमला किया था। 3 जनवरी को अमेरिका द्वारा ईरानी सैन्य कमांडरजनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद से दोनों देशों में तनाव है।

भारतीय नौसेना ने कहा कि जंगी जहाज और विमानों की तैनाती का मकसद भारतीय व्यापारियों को आश्वस्त करना है कि वेसुरक्षित हैं। हम किसी भी आकस्मिक संकट का जवाब देने के लिएपूरी तरह तैयार हैं। खाड़ी क्षेत्र की स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। नौसेना देश के समुद्री हितों की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है।

समुद्री सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए अंतर-मंत्रालय बैठकें की गई

पिछले साल जून में, नौसेना ने ओमान की खाड़ी में व्यापारिक जहाजों पर हुए हमले के बादएक समुद्री सुरक्षा ड्रिल ‘ऑपरेशन संकल्प’ शुरू की थी। रक्षा, विदेश, जहाजरानी, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय समेत सभी हितधारकों के साथ इस अभियान को आगे बढ़ाया जा रहा है। वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि खाड़ी क्षेत्र में सामुद्रिकसुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए नियमित अंतर-मंत्रालय बैठकें की गई हैं।

Share To:

Post A Comment: