घर से निकली भटकी बच्ची को पाकर खुश हुए परिजन 

पुलिस, ग्रामीणों और पत्रिका की पहल से परिजनों के पास पहुँची बच्ची

कलयुग की कलम (अंकित झारिया)

 उमरियापान:- एक दिन पहले अपने घर से बिन बताये निकली नाबालिग बच्ची पुलिस, ग्रामीणों और मीडियाकर्मियों की पहल से दूसरे दिन अपने परिजनों को मिल गई। भटकी हुई बच्ची को पाकर परिजन बहुत खुश हुए। इसके लिए परिजनों ने पुलिस, ग्रामीणों व पत्रिका के प्रति आभार जताया है।

एएसआई रवि शंकर पांडेय ने बताया कि स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र के बंधी स्टेशन के खिरवा टोला निवासी रामसिंह गौंड की 14 वर्षीय पुत्री साधना गौंड 26 जनवरी को घर से बिना बताए घूमने निकल गई थी। भटकते हुए पुत्री उमरियापान थाना क्षेत्र के जंगली क्षेत्र झुनकी गांव पहुँच गई है। पुत्री को रोते बिखलते हुए देख गांव के लोगों उससे पूछताछ किया।लेकिन पुत्री ने किसी को कुछ नही बता सकी। रात होने पर लोगों ने रात को बच्ची को गांव में रोक लिया। दूसरे दिन सोमवार को भी बच्ची ने कुछ नही बताया तो दोपहर में गांव के लोगों डायल 100 पुलिस को जानकारी दिया। मौके पर पहुँची डायल 100 पुलिस ने बच्ची को थाना ले आई। विक्षिप्त हालात में मिली एक बच्ची के मिलने की सूचना जिले के थानों सहित सोशल मीडिया में भेजी। पता चला कि स्लीमनाबाद थाना में एक बच्ची के गुम होने की सूचना है। फोटो देखते ही पता चला कि वह बच्ची उमरियापान में है। बच्ची के परिजनों को जानकारी लगी तो वे उमरियापान थाना पहुँचे। उमरियापान पुलिस ने पूछताछ करने और पहचान होने पर बच्ची को परिजनों के हवाले किया है। बच्ची को पाकर उसके परिजनों खुश हुए। इस दौरान थाना प्रभारी गोविंद सुरैया,एसएसआई रविशंकर पांडे, आरक्षक अमित गौतम,पायलट विजय  पांडेय सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।


Share To:

Post A Comment: