“उज्जैन के महाकाल मंदिर में लूट रहे हैं श्रद्धालुओं को आरएसएस के कार्यकर्ता”

भस्म आरती के नाम से ठगी का व्यापार आरएसएस की पाठशाला के संस्कार “

“भस्म आरती के नाम पर ठगी करने वाला हेमंत व्यास आरएसएस का सक्रिय स्यंमसेवक “

“महाकाल मंदिर समिति भंग की जाये एंव पुजारियों का भी सत्यापन किया जाये”

म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी के प्रदेशसचिव राकेश सिंह यादव ने आरोप लगाया हैं की उज्जैन के महाकाल मंदिर में आरएसएस के स्यंमसेवको ने अवैध क़ब्ज़ा कर रखा हैं।आरएसएस के स्यंमसेवको ने महाकाल की भस्म आरती को अवैध पैसा बनाने का उघोग बना दिया हैं।

महाकाल की भस्म आरती में ठगी के आरोप में गिरफ़्तार हिमांशु व्यास आरएसएस का स्यंमसेवक हैं।महाकाल मंदिर के सभी पदों पर आरएसएस के स्यंमसेवको का क़ब्ज़ा हैं। महाकाल मंदिर की भस्म आरती के ऑनलाइन एंव ऑफ़लाइन बुकिंग में ज़बरदस्त फ़र्ज़ीवाड़ा आरएसएस के स्यंमसेवक करते हैं।फ़र्ज़ी नामों में ऑन लाईन बुकिंग की जाती हैं बाद में बुकिंग वाले व्यक्ति का नाम बदलकर मोटा पैसा वसूलकर भस्म आरती की बुकिंग को बेचा जाता हैं।यह रोज़ाना का धंधा हैं क्योंकि ऑनलाइन बुकिंग का चार्ज मात्र 100/- निर्धारित हैं।इसलिए ऑनलाइन बुकिंग का जमकर दुरुपयोग आरएसएस के स्यंमसेवक करके हैं।इसी तरह आँफलाईन बुकिंग में भी बिना आधार कार्ड एंव बिना आगंतुक के ही बुकिंग फ़र्ज़ी नामों से करके आने वाले श्रद्धालुओं से जमकर वसूली की जाती हैं।

पिछले 15 सालों से महाकाल मंदिर में अनेक पदों पर आरएसएस के स्यंमसेवक जमे हुए हैं।ये लूट का धंधा लगातार जारी हैं।मंदिर की व्यवस्था संभालने वाले अनेक कर्मचारी भस्म आरती की ठगी में शामिल हैं।मंदिर समिति भी पूर्ण रूप से दोषी हैं।

इस संदर्भ में माननीय मुख्यमंत्री कमलनाथ जी को पत्र लिखकर मॉंग की गई हैं की महाकाल मंदिर का समस्त व्यवस्थाओं में मूलभूत परिवर्तन किया जाना चाहिए तथा महाकाल मंदिर परिसर को आरएसएस के चुंगल से मुक्त कराना अतिआवश्यक हैं जिससे की देश के अलग अलग हिस्सों से आने वाले श्रद्धालुओं के साथ आरएसएस वाले धर्म के नाम पर ठगी न कर सके।मंदिर समिति को तत्काल भंग करना चाहिए जिससे की भस्म आरती के नाम पर ठगी नहीं की जा सके।

इस हेतु महाकाल मंदिर हेतु एक कार्ययोजना भी माननीय मुख्यमंत्री जी को पहुँचायी गई हैं।जिससे की महाकाल भस्म आरती के नाम पर आरएसएस स्यंमसेवको की लूट पर रोक लग सके।ऑंनलाईन एंव ऑफलाईन सिस्टम को बदलना आवश्यक हैं।मंदिर समिति को भंग करके नवीन मंदिर समिति एंव पुजारियों का प्रमाणीकरण आवश्यक हैं।इस हेतु विस्तृत योजना मुख्यमंत्री को पहुँचायी गयी हैं।जिससे महाकाल मंदिर की भस्म आरती आरएसएस के दलालों से मुक्त हो सके।


राकेश सिंह यादव
प्रदेशसचिव
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी
भोपाल
 भस्म आरती धोखाधड़ी में गिरफ्तार आरएसएस स्यंमसेवक हिमांशु व्यास
 एफ़आइआर की कॉपी




Share To:

Post A Comment: