मूल्यांकन हुआ न सत्यापन,सरपंच-सचिव ने निकाल ली राशि 

जिला सीईओ बोले होगी कार्रवाई, ढीमरखेड़ा की जिर्री ग्राम पंचायत का मामला

कलयुग की कलम (महेन्द्र सिंह पटेल)कटनी

 उमरियापान-  बिना निर्माण कार्य कराए बगैर सरपंच- सचिव द्वारा राशि हड़पने का मामला सामने आया है। ग्रामीणों ने जिला पंचायत सीईओ से शिकायत कर कार्रवाई करने गुहार लगाई है। मामला ढीमरखेड़ा जनपद की ग्राम पंचायत जिर्री का है। शिकायत के बाद सरपंच- सचिव अधिकारियों से जुगाड़ बनाने दफ्तरों में चक्कर काट रहे हैं।

जिला पंचायत सीईओ जगदीशचंद्र गोमे से की गई शिकायत में बताया गया कि जिर्री सरपंच अंजना राजेश असाटी और प्रभारी सचिव शिवपाल सिंह द्वारा जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है।इस पूरे मामले में सरपंच पति राजेश असाटी भी भूमिका संदिग्ध है। सरपंच अंजना राजेश असाटी और प्रभारी सचिव शिवपाल सिंह ने जिर्री में आंगनवाड़ी निर्माण के नाम पर 33 हजार रुपये और यात्री प्रतीक्षालय निर्माण कार्य के नाम पर करीब 3 लाख रुपये वहीं जिर्री के कटरा ग्राम में नाली निर्माण कार्य के नाम करीब लाख रुपए की राशि निकाल लिया है। निर्माण कार्यों के बगैर मूल्यांकन और सत्यापन के सरपंच पति ने अधिकारियों से मिलीभगत कर लाखों रुपये निकालकर मामले को अंजाम दिया है।इसी प्रकार सरपंच-सचिव ने पंचायत के अन्य निर्माण कार्य में भी फर्जीवाड़ा किया है। इस संबंध में सरपंच राजेश असाटी का कहना है कि राशि निकाली गई थी,निर्माण कार्य कराया गया है। कुछ कार्यों का मूल्यांकन हो गया है।कुछ कार्यों का बाकी है। वहीं प्रभारी सचिव शिवपाल सिंह से फोन पर कई बार संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने  फोन नही उठाया।

इनका कहना है:- बगैर मूल्यांकन और सत्यापन के राशि निकाली गई है, कार्य नही कराया तो गलत है। इसकी पूरी जांच कराकर कार्रवाई की जायेगी।:-  जगदीशचंद्र गोमे, सीईओ जिला पंचायत

Share To:

Post A Comment: