“मुख्यमंत्री का विरोध करने वाली फ़र्ज़ी अखिल भारतवर्षीय यादव महासभा का पर्दाफ़ाश “

“भाजपा के सहयोग से चुनाव पूर्व भी फ़र्ज़ी महासभा ने किया था माननीय कमलनाथ जी के विरोंध की योजना को बेनक़ाब करके यादव समाज को सच बताया तो फ़र्ज़ी महासभा का कार्यक्रम फ़्लॉप सिद्ध हुआ”

“फ़र्ज़ी महासभा के सरग़ना जगदीश यादव एंव फ़र्ज़ी पदाधिकारीयों ने लाखों का चंदा करके घोटाले की तैयारी की”

“कोर्ट के आदेश ने फ़र्ज़ी यादव महासभा को  प्रतिबंधित किया”

“फ़र्ज़ी यादव महासभा के सभी फ़र्ज़ी पदाधिकारीयो पर नामज़द एफ़आइआर करने के लिए पुलिस में शिकायत “

“इन्दौर ज़िला न्यायालय में भी फ़र्ज़ी यादव महासभा के ख़िलाफ़ प्रकरण दाखिल किया”

म.प्र के विदिशा में आयोजित फ़र्ज़ी यादव महासभा के 21एंव 

22 मार्च के कार्यक्रम की अनुमति नहीं देने के लिए न्यायालय के आदेश का हवाला देकर पत्र लिखा ज़िला कलेक्टर विदिशा को कार्यवाही हेतु “

“मुख्यमंत्री कमलनाथ जी को फ़र्ज़ी यादव महासभा के काले कारनामों को उजागर करते हुए पत्र लिखकर शिकायत की”

म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी के प्रदेशसचिव एंव यादव अहिर सेना प्रमुख राकेश सिंह यादव ने बताया की भाजपा के साथ मिलकर फ़र्ज़ी अखिल भारतवर्षीय यादव महासभा ने सालो तक यादव समाज को लूटा हैं।

जबकि यादव महासभा एक फ़र्ज़ी संगठन हैं ना इस संगठन का वजूद हैं न ही ये संगठन वैध संगठन हैं।न्यायालय के आदेश अनुसार इस फ़र्ज़ी महासभा के नाम का उपयोग भी नहीं किया जा सकता हैं न ही पदाधिकारी बनाये जा सकते हैं।

लेकिन शिकायत पत्र में संलग्न सभी नाम इस फर्जीवाड़े में शामिल हैं।ऐसी संभावना हैं की लाखों रुपये का चंदा लिया गया हैं।यादव समाज ने इस फ़र्ज़ीवाड़े पर सख़्त कार्यवाही की मॉंग की हैं जिससे यादव समाज की प्रतिष्ठा प्रभावित न हो सके ।विदिशा में फ़र्ज़ी यादव महासभा ने 21 एंव 22 मार्च को न्यायालय के प्रतिबंध के बाद भी सारे प्रदेश में फ़र्ज़ी पदाधिकारी बनाके लाखों का चंदा खाने की तैयारी की गई हैं।जबकि पूर्व में भी इसी तरह के बोगस एंव फ़र्ज़ी  कार्यक्रम का आयोजन किया था जहां फ़र्ज़ी महासभा के जगदीश यादव ने अखिलेश यादव के नाम पर लाखों का चंदा करने के बाद कार्यक्रम में अखिलेश यादव नहीं आये थे।यह कार्यक्रम यादव अहिर सेना के विरोध के कारण चारों खाने चित्त हो गया था।सारा चंदा फ़र्ज़ी महासभा वाले ही खा गये थे।

इस संपूर्ण मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज करायी गयी हैं।जिसमें धारा 420,467,468,471,403,404,406,120-B,34 सहित दंड विधान की धाराओं में सख़्त से सख़्त कार्यवाही की जाये।इसके साथ ही माननीय न्यायालय की अवमानना का प्रकरण भी दर्ज कराया जायेगा।

इन्दौर ज़िला न्यायालय में फ़र्ज़ी यादव महासभा के ख़िलाफ़ प्रकरण दाखिल किया गया।


राकेश सिंह यादव
प्रदेशसचिव
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी
भोपाल
एंव
यादव अहिर सेना
म.प्र.
















Share To:

Post A Comment: