मोदी सरकार का....

“देश के इतिहास में सबसे भयावह आर्थिक अंधकारमय भविष्य का बजट”

“मोदी सरकार का बजट मुंगेरी लाल के हसीन सपने”

“दस प्रतिशत विकास दर मोदी सरकार की बोगस घोषणा “

मोदी सरकार का बंटाढार बजट

“देश के लिए ग़ैरज़िम्मेदार बजट मोदी सरकार का”

म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी के प्रदेशसचिव राकेश सिंह यादव ने केंद्र की मोदी सरकार का बजट सिर्फ़ आँकड़ों का मकडजाल बनकर रह गया।शिक्षा के क्षेत्र में एफ़डीआई की बात करना मुंगेरी लाल के हसीन सपने जैसा झुठ हैं।आर्थिक कंगाली के कगार पर पहुँचने के बाद भी आन आदमी को राहत नहीं मिली हैं।बेटी पढ़ाओ -बेटी बचाओ योजना काग़ज़ों पर हैं जबकि ज़मीनी हक़ीक़त में इस योजना का सारा पैसा भाजपा शासित राज्यों में भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया हैं।आज तक पर्यटन में एफ़डीआई नहीं आयी तो शिक्षकों क्षेत्र में किया आयेगी ?

महिलाओ के लिए एक भी योजना महिलाओ को सीधे फ़ायदा मिले लेकिन बजट में ऐसा कुछ नहीं हैं।पीपीपी मॉडल पर स्मार्ट सिटी शहर बनाना शेखचिल्ली के ख़्वाब जैसा हैं।स्थानीय विकास संस्थानों नगर निगम ,विकास प्राधिकरण के होते हुए अब क्या पीपीपी मॉडल से भी अलग टेक्स वसूलने की तैयारी हैं।कॉंग्रेस इस तरह की ग़ैरज़िम्मेदारना योजनाओं का विरोध करेगी।बिजली के स्मार्ट मीटर बदलने के बजाय जहॉं गॉंवो में बिजली नहीं हैं वहॉं बिजली पहुँचाने के कार्य की योजना बनानी थी।लेकिन ये नहीं किया गया।स्वच्छ हवा के लिए बनाया गया बजट सिर्फ़ भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ाने के लिए हैं।किसानों के लिए बजट में राहत नहीं हैं।किसानों के लिए बेहद निराशाजनक बजट हैं।

बजट से सम्पन्नता और ख़ुशी ग़ायब हैं।व्यापारियों की पेंशन योजना ग़ायब हो गई हैं।महिलाओ कीं नारायणी योजना ग़ायब हो गई हैं।बीमे में एफ़डीआई ग़ायब हैं।किराये के मकानों के लिए आदर्श क़ानून अब नदारत हैं बजट से।एलआईसी बिकने की कगार पर आ गया हैं।बेडागर्क कर दिया हैं देश के बजट का मोदी सरकार ने।राजकोषीय घाटा बढ़ा ।ये मोदी सरकार का असफल बजट हैं।आईडीबीआई बैंक भी बिकेगा।बैंकों के एनपीए की जानकारी नहीं दी केंद्र सरकार ने मोदीबजट में।

टेक्स में बदलाव से आम आदमी को राहत नहीं ।वैकल्पिक टेक्स व्यवस्था दिन में तारे दिखाने जैसी योजना हैं।बेरोज़गारी के समाधान के लिए एक भी योजना नहीं हैं बजट में।नयी कंपनी को टेक्स से छुट दिखावा हैं जब देश में कंपनियॉं बंद हो रही हैं तो नयी कंपनी कहॉं से आयेगी।

आम आदमी को महंगाई से राहत की एक भी योजना नहीं हैं।मोदी सरकार का ये बजट आने वाले समय में गरीब वर्ग की कमर तोड़ने में ऐतिहासिक सिद्ध होगा।बजट आते ही शेयर बाज़ार का बेडागर्क हो गया हैं।

कॉंग्रेस देश के आर्थिक दिवाला निकालने वाले बजट का कड़ा। विरोध करती हैं।केंद्र की नीतियों ने बजट का बट्टा बैठा दिया हैं।


राकेश सिंह यादव
प्रदेशसचिव
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी
भोपाल
Share To:

Post A Comment: