सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों कें निराकरण कार्य में लापरवाही पर होगी सख्त कार्यवाही - कलेक्टर

समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक सम्पन्न

कलयुग की कलम ग्रामीण रिपोर्टर कटनी 

सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित समय सीमा प्रकरणों की समीक्षा कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने की। इस दौरान उन्होने वन मित्र के शेष रह गये प्रकरणों की समीक्षा करते हुये शीघ्र निराकरण की कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश जिला समन्वयक आदिम जाति को दिये। इसके साथ ही कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी के फेज-1 व फेज-2 के प्रकरणों की विस्तृत समीक्षा की। उन्होने बैंक शाखास्तर एवं को-ऑपेरिटव बैंक शाखाओं पर लंबित प्रकरणों की जानकारी ली। उन्होने कहा कि हर हाल में शेष प्रकरणों का निराकरण करें। सीएम हेल्ल्पलाईन के लंबित प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही बरतने वाले अधिकरियों पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश कलेक्टर ने बैठक में दिये। उन्होने कहा कि संबंधित विभाग प्रमुख अधिकारी। निराकरण नहीं करने व कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को अवैतनिक करने की कर्यवाही करें। इस अवसर पर बैठक में अपर कलेक्टर जयेन्द्र कुमार विजयवत्, सीईओ जिला पंचायत जगदीश चन्द्र गोमे सहित आयुक्त नगर निगम आर0पी0 सिंह, एसडीएम रोहित सिसोनिया, बलबीर रमन, सपना त्रिपाठी, प्रिया चन्द्रावत व अन्य विभागों के विभाग प्रमुख अधिकारी भी उपस्थित थे।

14 और 15 फरवरी को तिलक महाविद्यालय परिसर में आयोजित होने वाले रोजगार मेले की तैयारियों के संबंध में कलेक्टर ने जानकारी लेते हुये आयोजन की व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के निर्देश महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र व जिला रोजगार अधिकारी को दिये। उन्होने कहा कि ब्लॉकवाईज इस रोजगार मेले में शामिल होने वाले युवाओं की जानकारी संकलित करें। साथ ही प्लेसमेन्ट के लिये आने वाली कंपनियों से भी समन्वय स्थापित कर अधिक से अधिक बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिल सके, इसके प्रयास करें। टीएल बैठक में कलेक्टर ने 13 फरवरी को प्रभारी मंत्री जी के प्रस्तावित कार्यक्रम अनुसार जिले के प्रवास के दौरान होने वाले विकास कार्यों के भूमिपूजन व लोकार्पण व ’’आपकी सरकार-आपके द्वार’’ कार्यक्रम के संबंध विभागीय अधिकारियों को आवश्यक तैयारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि लोकार्पित होने वाले व नवीन कार्यों की संबंधित विभागीय अधिकारी सूची तैयार कर अतिशीघ्र जिला पंचायत को अनिवार्य रुप से उपलब्ध करा दें। शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर श्री सिंह ने आरटीई के तहत स्कूलों को जारी होने वाली फीस, एमपीईबी से संबंधित शुल्क के भुगतान की जानकारी ली। उन्होने कहा कि शासन के निर्देशानुसार प्रत्येक ब्लॉक स्तर पर आधार पंजीयन केन्द्र की स्थापना को लेेकर कार्यवाही करें। जिले में गैर मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थाओं की सूची और सेम्पल जांच और शिक्षकों की रिक्त स्थानों की अद्यतन जानकारी समय सीमा में प्रस्तुत करने के निर्देश भी जिला शिक्षा अधिकारी को कलेक्टर ने दिये। बैठक में कलेक्टर ने सभी विभागों के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि संबंधित विभागों के अधिकारी विभाग से संबंधित शिकायतों के निराकरण व उनके फॉलोअप में लापरवाही न बरतें। एल-1 स्तर पर लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों को सख्त कार्यवाही भी सुनिश्चित करें।

धान उपार्जन के बाद भण्डारण की स्थिति की जानकारी कलेक्टर ने ली। इस दौरान बताया गया कि लगभग 10 हजार मी0टन0 धान का भण्डारण शेष है। जिस पर कलेक्टर ने पेंडिग स्टॉक को मझगवां व कृषि उपज मण्डी में भण्डारित कराने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होने कहा कि रबी उपार्जन के लिये किसानों का पंजीयन प्रारंभ हो चुका है। संबंधित विभाग गेहूं उपार्जन व उसके परिवहन, भण्डारण की तैयारी अभी से कर लें। सार्थक एप के संबंध में कलेक्टर सभी विभाग प्रमुखों को निर्देशित किया कि वे अपने अधीनस्थ अपने को इस एप के माध्यम से उपस्थिति दर्ज करायें एवं गतिविधियांें भी एप पर अपलोड करें। कलेक्टर ने कहा कि मार्च माह से सार्थक एप पर अटेण्डेन्स के आधार पर ही वेतन का आहरण सुनिश्चित किया जायेगा। इस संबंध में उन्होने प्रबंधक जिला ई-गवर्नेन्स सोसायटी को आवश्यक कार्यवाही करने के लिये निर्देशित किया। समय सीमा के प्रकरणों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाईन के लंबित प्रकरण, लोक सेवा के समय बाह्य प्रकरण, सीएम मॉनिट, उत्तरा सॉफ्टवेयर, आपकी सरकार-आपके द्वार कार्यक्रम के लंबित प्रकरणों की विस्तृत समीक्षा की। इस दौरान उन्होने सभी प्राप्त प्रकरणों को शीघ्र निराकृत कर पोर्टल पर जवाब दर्ज करने के निर्देश दिये।


Share To:

Post A Comment: