कलेक्टर ने परीक्षा के मद्धेनजर केंद्र से 100 मीटर की परिधि के अंतर्गत दण्ड प्रक्रिया 1973 की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है

कलयुग की कलम सोनू त्रिपाठी ग्रामीण रिपोर्टर कटनी 

माध्यमिक शिक्षा मण्डल मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा घोषित निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार हायर सकेण्डरी व हाई स्कूल परीक्षायें 2 मार्च से प्रारंभ हो चुकी हैं। परीक्षाओं के दौरान जिले के विभिन्न परीक्षा केन्द्र के परिसर के भीतर बाहरी अघोषित एवं असामाजिक व्यक्ति परीक्षा केन्द्र में प्रवेश कर परीक्षार्थियों को नकल कराने के लिये अनुचित साधनों का प्रयोग करने हेतु प्रयास करते हैं। जिससे परीक्षार्थियों को स्वतंत्र रुप से परीक्षा देने में विशेष कठिनाई होती है तथा परीक्षा संचालन में असुविधा की संभावना बनी रहती है। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट ने कटनी जिले के सम्पूर्ण परीक्षा केन्द्र के 100 मीटर की परिधि के अन्तर्गत दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है। जिसके तहत परीक्षा केन्द्र की 100 मीटर की परिधि के अन्तर्गत कोई भी बाहरी या अघोषित व्यक्ति का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। साथ ही अनुचित साधन एवं अस्त्र शस्त्र लेकर परिसर में प्रवेश करना भी प्रतिबंधित होगा।कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री सिंह द्वारा जारी इस प्रतिबंधात्मक आदेश में स्पष्ट किया गया है कि जिले के सम्पूर्ण परीक्षा केन्द्रों के परिसर के भीतर या परीक्षा केन्द्र के 100 मीटर की दूरी के अन्तर्गत किसी सार्वजनिक या प्राईवेट स्थान पर निम्नलिखित कार्यों में से कोई भी कार्य नहीं किया जायेगा, जब तक कि वे अपने कर्तव्यों के आधार पर वह कार्य करने के लिये अनुज्ञात न हों या जब तक कि वह परीक्षा केन्द्र अधीक्षक से निम्न श्रेणी के पदाधिकारी द्वारा प्राधिकृत न हों। आदेश में बेमतलब घूमने, परीक्षा से संबंधित कोई कागज या कोई अन्य वस्तु वितरित करना या वितरित करना अथवा उसका प्रचार करना या प्रचार करवाना वर्जित किया गया है। साथ ही किसी एैसे कार्यकलाप में रित होना जिसमें कि परीक्षा के संचालन पर प्रतिकूल प्रभाव या परीक्षा की गोपनीयता पर प्रभाव पड़ने की संभावना हो, प्रतिबंधित रहेगा। प्रतिबंधात्मक आदेश के तहत कोई भी व्यक्ति किसी मान्यता प्राप्त परीक्षा में अनुचित साधन नहीं अपनायेगा या उसका सहारा नहीं लेगा। किसी भी व्यक्ति किसी मान्यता प्राप्त परीक्षा में अनुचित साधनों का प्रयोग किये जाने में सहायता नहीं देगा, इसकें दुष्प्रेरण नहीं करेगा या उसके लिये षणयंत्र नहीं करेगा। इस आदेश का उल्लंघन करने पर मध्यप्रदेश मान्य प्राप्त परीक्षा अधिनियम 1973 की धारा-डी के अन्तर्गत तीन साल का कारावास अथवा पांच हजार रुपये का अर्थदण्ड या दोनों से दण्डित किया जायेगा।

Share To:

Post A Comment: